Home Header News राजस्थान – सीएसआर के सवाल का सरकार के पास नहीं जवाब

राजस्थान – सीएसआर के सवाल का सरकार के पास नहीं जवाब

436
0
SHARE
राजस्थान - सीएसआर के सवाल का सरकार के पास नहीं जवाब, सदन में हुआ विवाद
 
राजस्थान सरकार के अधीन आने वाली स्टेट पीएसयू राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स लिमिटेड (RSMM) के सीएसआर पर जब राजस्थान विधान भवन में सवाल खड़ा किया गया तो जवाब देने वाला कोई नहीं था। राजस्थान में इस समय बजट सत्र चल रहा है। बजट सत्र (Rajasthan Assembly Session) बहुत हंगामेदार हो रहा है। आये दिन किसी न किसी सवाल को लेकर सदन में हंगामा हो जा रहा है। दरअसल शिव के निर्दलीय विधायक रविंद्र भाटी के सवाल पर कोई मंत्री जवाब देने को खड़े नहीं हुए। राजस्थान विधानसभा के बजट सत्र में शिव के निर्दलीय विधायक Ravindra Singh Bhati ने शून्यकाल के दौरान सरकार से एक सवाल पूछा। सवाल उनके विधानसभा क्षेत्र से जुड़ा था। सवाल था राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स लिमिटेड के सीएसआर पर, लेकिन इस सवाल का जवाब रविंद्र भाटी को नहीं मिल सका। पहले तो भाटी के सवाल पर सरकार की ओर से कोई भी मंत्री जवाब देने को खड़ा नहीं हुए। इस पर जब विपक्ष ने नारेबाजी शुरू की तो संसदीय कार्य मंत्री जवाब देने को उठे। लेकिन जब तक मंत्री भाटी के सवाल का जवाब देते तब तक प्रश्नकाल का समय खत्म हो चुका था।

राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स लिमिटेड की सीएसआर (CSR) से जुड़ा था सवाल

निर्दलीय विधायक रविंद्र भाटी ने प्रश्नकाल के दौरान सवाल पूछा कि शिव में राजस्थान स्टेट माइंस एण्ड मिनरल्स लिमिटेड Rajasthan State Mines and Minerals Limited की CSR की गतिविधियों से जुड़ा सवाल पूछते हुए कुछ पूरक सवाल भी पूछे थे लेकिन पहले तो कोई मंत्री जवाब देने के लिए खड़ा ही नहीं हुआ बाद में जब संसदीय कार्य मंत्री दें जवाब देने की बात कही तब तक प्रश्नकाल का समय समाप्त हो गया था। विधानसभा में शून्यकाल के दौरान रविंद्र सिंह भाटी ने सवाल लगाया था कि शिव में राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स की ओर से 2018-19 CSR फंड के तहत कितनी राशि स्वीकृत की गई इसके साथ ये भी पूछा था कि स्थानीय निवासियों में कितने लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण किए गए। कितनी बीमारियों की राशि की दवाइयां निशुल्क वितरित की गई। शिव विधानसभा क्षेत्र में कितने नागरिकों के स्वास्थ्य की जांच हुई है। लेकिन रविंद्र सिंह भाटी के सवाल के जवाब में जब कोई मंत्री नहीं खड़ा हुआ तो विपक्ष ने हंगामा किया।

Rajasthan में होता है इतना सीएसआर

राजस्थान के नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली ने कहा इस सवाल का जवाब देने के लिए सत्ता पक्ष के पास कोई मंत्री नहीं है। तब जाकर संसदीय कार्य मंत्री जोगाराम पटेल खड़े हुए उन्होंने कहा सवाल का जवाब मैं दूंगा। लेकिन इसी दौरान घड़ी में 12 बजने के साथ ही स्पीकर ने प्रश्नकाल के समय की समाप्ति की घोषणा कर दी और रविंद्र सिंह भाटी के सवालों के जवाब नहीं मिल पाए। शिव विधायक रविंद्र सिंह भाटी ने प्रश्नकाल में शिव विधानसभा क्षेत्र में राजस्थान स्टेट माइंस एण्ड मिनरल्स लिमिटेड की CSR एक्टिविटी से जुड़ा सवाल उठाया। गौरतलब है कि Sheo Vidhan Sabha राजस्थान के बाड़मेर जिले में आता है। और बात करें सीएसआर की तो साल 2021-22 में तो यहां सबसे ज्यादा सीएसआर वेदांता लिमिटेड ने किया है। बाड़मेर जिले में 32 कंपनियों ने लगभग 16 करोड़ रुपये का सीएसआर खर्च किया है। और बात राजस्थान की करें तो 704 करोड़ खर्च किये गए है।