Home हिन्दी फ़ोरम

हिन्दी फ़ोरम

सीएसआर और सरकार के बीच अब होगा “सहयोग”

सीएसआर के तहत कामों को सरकारें खूब सराहा रही है, सीएसआर फंड का इस्तेमाल जरूरतमंद तक पहुंचे इसके लिए सरकारें लगातार कानून और नियमों के बदलाव कर रही है, सेट अप बनाया जा रहा है, सीएसआर के काम में पारदर्शिता हो लिहाजा कई सरकारी संस्थाओं का गठन हो रहा है। हालही में राजस्थान सरकार...

गुजरात दंगों में पाकसाफ निकले मोदी और शाह, नानावती आयोग ने दी क्लीन चिट

आज भी नरेंद्र मोदी से जब भी किसी इंटरव्यू में गुजरात दंगों की बात की जाती है तो मोदी सिहर जाते है, कई सालों से गुजरात गोधरा कांड का दंश झेलने वाले पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को बड़ी राहत मिली है। गोधरा कांड व गुजरात दंगों की जांच के लिए...

आईये जानते है कि क्या है नागरिकता संशोधन बिल

नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में पास हो गया, अब बारी है राज्यसभा की। गृहमंत्री अमित शाह ने विपक्षियों के विरोध के बावजूद नागरिकता संशोधन बिल को लोकसभा में सोमवार को पेश किया और उसे पास कराया। बिल पर करीब सात घंटे लंबी बहस चली उसके बाद बहुमत से बिल पास भी हो गया। भारतीय...

मर रहीं हैं बेटियां, धूल फांक रहा “निर्भया फंड”

बवाल मचा और सवाल हुआ, सवाल ये कि आखिरकार क्यों सरकार बलात्कार जैसी घिनौनी वारदात पर अंकुश नहीं लगा पा रही है, सवाल हुआ कि महिलाओं की सुरक्षा और पुरुषों की मानसिकता कब बदलेगी, सवाल हुआ न्याय व्यवस्था पर, और सबसे बड़ा सवाल हुआ कि आखिरकार जब हमारी बेटियां मर रही है तो उनकी...
Unnao rape case protests

उन्नाव कांड – रेप और राजनीति

कोई धरने पर बैठ रहा है, कोई राज्यपाल से मिल रहा है, कोई मुख्यमंत्री योगी से इस्तीफा मांग रहा है तो आरोपियों को फांसी और एनकाउंटर की मांग कर रहा है, देश मे रेप और उसपर होती राजनीति अपने चरम पर है, क्या हो रहा है हमारे देश में, क्यों महिलाओं के प्रति हैवानियत...

आओ सीएसआर से निकाले पॉल्युशन का सलूशन

2 दिसंबर यानि आज राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस है और जिस तरह से पिछले एक महीने में दिल्ली, यूपी सहित देश के अन्य राज्यों में प्रदूषण का स्तर रहा है वो हमारे लिए चिंता का विषय है । देश के सामने पॉल्युशन एक समस्या बन रहा है जिसका सलूशन अगर देश की सरकारों के...

मिड डे मील घोटाला – दूध में पानी नहीं, बाल्टी भर पानी में एक लीटर दूध मिलाकर, 80 बच्चों को पिलाया।

ये तो हद है, बेशर्मी की इंतेहां है, निर्लज्जता है, ये तो अपराध है, कैसे कोई इस कारनामें को कर सकता है, इस तरह की घोर लापरवाही, चंद पैसों के लिए सेहत से खिलवाड़, गुस्सा आती है, गैरजिम्मेदाराना हरकत वो भी हमारें बच्चों के साथ, बिल्कुल बर्दाश्त नही किया जाना चाहिए, अब तक यही...

हैदराबाद में हैवानियत, डॉक्टर से रेप के बाद जिंदा जलाया 

हमारे समाज को हो क्या गया है, क्यों हम ये भूल जाते है कि जिसकी वजह से हमारा वजूद है वो एक महिला की वजह से है, क्यों हम हर महिला को सम्मान की नज़र से नहीं देखते, क्यों आज का हमारा समाज वहशी होता जा रहा है, क्यों समाज में ऐसे राक्षस पैदा...

कैसे कह दें कि हम विकासशील देश है, जहां आज भी हमारा “भविष्य” कुपोषित है !!

यहां हम ये सवाल बिलकुल नहीं करेंगे कि ट्रिलियन में कितने जीरो होते है लेकिन ये जरूर पूछेंगे कि देश के प्रधानमंत्री ट्रिलियन इकोनॉमी का सपना तो देख रहे लेकिन ये क्यों भूल जाते है कि अगर हमारा भविष्य ही कुपोषित रहेगा तो हमारा अस्तित्व ही क्या होगा, देश में करोड़ों रुपये व्यारे न्यारे...

ठाकरे का “राज” आया, अब क्या मिलेगा 10 रुपये में खाना, क्या बच पायेगा आरे ?

महीना भर पहले हर नेता, हर एक मंच से जनता के पास जाता और ऐसे ऐसे वादे करता की मानों जीतने के बाद रामराज्य में जनता का ऐसा वक़्त होगा कि हर एक शख्स की पांचों उंगलियां घी में होंगी, हर एक पार्टियों ने अपने अपने मेनिफेस्टों को ऐसे भुनाया कि मानों रघुकुल रीत सदा चली आई...

बड़े बेआबरू होकर देवेंद्र सरकार से निकले

देवेंद्र फडणवीस की सरकार गिर गई है, देवेंद्र फडणवीस ने बतौर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है, फडणवीस ने सोमवार को ही मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाला था और मंगलवार आते आते इस्तीफा देना पड़ा, देवेंद्र फडणवीस ने अपने सीएमशीप की पहली पारी पूरे पांच साल निकाली लेकिन दूसरी पारी में मुख्यमंत्री का मजाक...

दूसरी पारी संभालते ही सीएम देवेंद्र फडणवीस ने किया ये पहला सामाजिक काम

महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी है, देवेंद्र फड़नवीस फिलहाल अल्पमत की सरकार के सरदार है या उनके पास पूर्ण बहुमत है ये अभी तक सिद्ध नहीं हो पाया है, सुप्रीम कोर्ट ने भी इसपर अभी तक कोई फैसला नहीं किया है लेकिन इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने अपना पदभार मंत्रालय पहुंचकर संभाल लिया...

हिंदी मंच

EDITOR'S PICK