Home हिन्दी फ़ोरम

हिन्दी फ़ोरम

“सेवा सप्ताह” पर भारी “बेरोज़गारी”

आज कोई बेरोज़गारी पर आधिकारिक दिवस नहीं है लेकिन बावजूद इसके अगर आप ट्विटर फेसबुक और तमाम सोशल मीडिया साइट्स देखेंगे तो आप पाएंगे कि राष्ट्रीय बेरोज़गारी दिवस ट्रेंड कर रहा है और अजीब इत्तेफ़ाक ये भी है कि "राष्ट्रीय बेरोज़गारी दिवस" पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन भी है।  हैशटैग #"राष्ट्रीय_बेरोज़गारी_दिवस"...

जनता द्वारा, जनता के लिए, जनता का शासन है भारतीय लोकतंत्र 

इसे लोकत्रंत की खूबसूरती ही कहेंगे कि एक्ट्रेस कंगना रनौत महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की गरिमा को भूलकर तू तड़ाक पर उतर आयी। इसे लोकतंत्र की खूबसूरती ही कहेंगे कि आतंकी कसाब ने भारत देश पर हमला किया और उसे ही हम क़ानूनी मदद दिए। ये लोकतंत्र की खूबसूरती ही है कि हम देश...

हिंदी – सपनों की भाषा, अपनों की भाषा  

जब हम सपने भी देखते हैं तो हिंदी में देखते है, जब हम अपनों से मिलते हैं तो हिंदी ही हमारी भाषा होती है। हिंदी ये महज हमारी भाषा ही नहीं बल्कि अस्मिता है, सम्मान है। हिंदी हमारा अभिमान है। हो भी क्यों ना, हिंदी एक मात्र ऐसी भाषा है जो संस्कारों की भाषा...

ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन से घर बैठे हुआ 3 लाख मरीजों का इलाज

आज के इस तकनीकी युग में जिंदगी कितनी आसान हो गयी है इसका जीता जागता उदाहरण है ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सर्विसेस। भारत सरकार की स्वास्थ्य सेवाओं को आम जनमानस तक पहुंचाने की संकल्पना से शुरू हुई ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सर्विसेस ने एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। एक साल के भीतर ही ई-संजीवनी टेलीमेडिसिन सेवा ने...

सीएसआर से सुधरेगी यूपी की सेहत, एनसीएल देगी 5 करोड़

50 और एंबुलेंस से सुधरेगी यूपी की सेहत, सीएसआर फंड से एनसीएल देगी 5 करोड़ उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं किसी से छुपी नहीं है, अब यूपी की सेहत को सुधारने का बीड़ा उठाया है सीएसआर ने, सीएसआर यानि कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी। जिसके तहत देश की नामी गिरामी कंपनियां सामने आकर उत्तर प्रदेश सरकार की मदद...

रांची डीसी ने की सीएसआर समीक्षा, स्वास्थ्य सेवाओं पर दिया जोर

एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट रांची के नए नियुक्त डिप्टी कमिश्नर छवि रंजन एक्शन में दिख रहें है, सीएसआर को लेकर रांची डीसी ने गुरूवार को एक महत्त्वपूर्ण समीक्षा बैठक की, जिसमें सीएसआर (CSR) के कामों को रांची जिले में कैसे बड़े पैमाने पर लागू कराया जाय और रुके हुए कामों को कैसे फ़ास्ट ट्रैक पर लाया...
NTPC CSR

एनटीपीसी सीएसआर रिपोर्ट – समाज के लिए अग्रसर एनटीपीसी

पीएसयू यानि पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग, वो सरकारी कंपनियां जिन पर कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) बजट को लेकर लालफीताशाही, लेट लतीफी और सीएसआर फंड को खर्च नहीं करने का आरोप लगता रहता है, शायद यही कारण है कि मिनिस्ट्री ऑफ़ कॉर्पोरेट अफेयर्स ने ऐसी ही देश की नामी गिरामी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को हिदायत...

सीएसआर ने बदली मैसूरु वासियों जिंदगी, हो रहें है सेहतमंद

सीएसआर यानि कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी, ये महज कंपनी एक्ट में कानून ही नहीं है बल्कि ये एक ऐसा सामाजिक हथियार है जिससे जिंदगियां बदल रहीं हैं। लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रही है, सीएसआर पहल लोगों को आत्मनिर्भर बना रहीं है। इसका ताज़ा उदाहरण है कर्नाटक का मैसूरु। मैसूरु में सीएसआर का...

नेशनल स्पोर्ट्स डे विशेष – हॉकी प्लेयर गुरजीत कौर और रेसलिंग कोच चंद्र विजय सिंह से ख़ास बातचीत  

29 अगस्त यानी कि नेशनल स्पोर्ट्स डे। ये बेहद खास दिन होता है और इसी दिन मशहूर हॉकी प्लेयर मेजर ध्यानचंद जी की जयंती मनाई जाती है। इसी के उपलक्ष में पूरे देश भर में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। इस अवसर को The CSR Journal भी मना रहा है। इसके लिए हमारे...

स्वच्छता सर्वेक्षण की रैकिंग जारी, इंदौर टॉप पर है, मुंबई गायब

स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर टॉप पर साल 2020 के स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण की सूची जारी की गयी है। गुरुवार को भारत सरकार ने इस सर्वेक्षण का ऐलान किया है। देश के नागरिकों में स्वच्छता को लेकर भागीदारी बढ़ाने के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण की शुरुआत की गई थी। इस स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार चौथे साल मध्‍य प्रदेश...

कैंसर के लिए टाटा और सिप्ला ने शुरू किया इमोशनल हेल्पलाइन

कोरोना महामारी ने हर किसी को प्रभावित किया, चाहे वह आम हो या ख़ास, कोरोना ने सबकी जिंदगी में बदलाव किया है, आर्थिक तौर पर तो दुश्वारियां हुई लेकिन भावनात्मक पहलू से भी लोग प्रभावित हुए। कॉर्पोरेट हाउसेस, सामाजिक संस्थाओं समेत सरकार ने अपनी सोशल रिस्पांसिबिलिटी का खूब निर्वहन किया और बढ़चढ़ कर परेशानियों...

आईये, स्वतंत्रता दिवस पर खत्म करें भाषिक भेदभाव  

आज़ादी के मतवालों ने भारत को अंग्रेजों से भले आज़ादी दिला दी, लेकिन जब भारत के आज़ाद होने पर बहस होती है तो सवाल कई खड़े होते है, आज़ादी के 74 साल बीत जाने के बाद भी हम सवाल करते है राष्ट्रीय एकता पर, हम सवाल करते है भारत में चौतरफे विकास पर, हम...

हिंदी मंच

EDITOR'S PICK