Home हिन्दी फ़ोरम कोरोना की जंग में जब सेना की जहाज से पहुंची जिंदगी

कोरोना की जंग में जब सेना की जहाज से पहुंची जिंदगी

8
0
SHARE
 
देश पर जब भी संकट आता है, भारतीय सेना के जवान अपनी जिंदगी की परवाह किये बिना ही हमारे सामने चट्टान की तरह खड़े रहते है, कोरोना की महामारी से जहां पूरा देश ठप्प है वहीं हमारे सेना के जाबाज जवान कोरोना को हराने में जुटे है। लॉक डाउन की स्तिथि है, पूरी तरह से यातायात बंद है, ऐसे में आम जनमानस को फ़ौरन राहत मिले इसलिए भारतीय सेना सामने आयी है। सेना के जवान देवदूत बनकर हमेशा से ही भारतीयों की रक्षा में तत्पर रहें है, हर विपदा की घड़ी में मदद के हाथ हमेशा सेना ने उठाया है, कोरोना की महामारी को देखते हुए जहां सेना के जवान जरूरतमंदों तक पहुंचकर खाना दें रही है, मास्क और सेनेटाइजर दे रही है तो वहीं जहाज़ से जिंदगी भी दें रही है।

नौसेना ने दिल्ली से गोवा पहुंचाया फेस मास्क

गोवा स्थित इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने गोवा में भारी कमी हो जाने पर 60,000 फेस मास्क का ऑर्डर दिया था, लेकिन लॉक डाउन की वजह से इनकी ढुलाई दिल्ली में अटक गयी। ऐसे में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने गोवा में भारतीय नौसेना से इन फेस मास्क को दिल्‍ली से गोवा लाने की व्‍यवस्‍था करने का अनुरोध किया है। भारतीय नौसेना के एक लॉन्ग रेंज मैरीटाइम रिकोनिसेंस एयरक्राफ्ट ‘इल्यूशिन 38एसडी (आईएल-38)’ को तुरंत नई दिल्ली स्थित पालम हवाई अड्डे के लिए आईएनएस हंसा से रवाना करने के लिए तैयार किया। दिल्ली में इन फेस मास्क के संग्रह में एयर फोर्स स्टेशन पालम ने सहयोग किया और यह विमान फेस मास्क के साथ गोवा लौट आया।

कोरोना से लड़ने के लिए सेना ने जहाज से पहुंचाया

वहीं गोवा से पुणे आने के लिए 60 कोरोना वायरस टेस्टिंग सैंपल भेजना चाही, लेकिन फिर वही दिक्कत, लॉक डाउन की मौजूदा हालात को देखते हुए राज्यों की सीमाएं सील की जा चुकी है लेकिन टेस्टिंग किट समय पर पुणे पहुंचना जरुरी था लिहाजा एक बार फिर से भारतीय नौसेना मदद के लिए आयी और गोवा स्टेट हेल्थ डिपार्टमेंट के कुछ अधिकारियों को कोरोना वायरस के 60 किट के साथ एयरलिफ्ट कर पुणे पहुंचाया गया। इसके पहले भी गोवा से 4 लोगों की मेडिकल टीम को एयरलिफ्ट कर गोवा से पुणे पहुंचाया गया था।

जंग में उतरी भारतीय सेना, लॉन्च किया ‘ऑपरेशन नमस्ते’

बहरहाल इस संकट की घड़ी में हर कोई एक दूसरे का साथ दे रहा है और सेना देवदूत की तरह काम कर रही है, कोरोना से जंग के लिए मैदान में अब सेना उतर चुकी है और इस बार कोरोना को हराने के लिए शुरू हुआ “ऑपरेशन नमस्ते”। कोरोना वायरस को हराने के लिए भारतीय सेना ने ऑपरेशन नमस्ते की शुरुआत की है जिसका ऐलान खुद आर्मी चीफ एमएम नरवणे ने की और कहा कि सेना ने अतीत के सभी अभियानों को सफलतापूर्वक अंजाम दिया है और ऑपरेशन नमस्ते को भी सफलतापूर्वक अंजाम देगी, सेना की ओर से हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया गया है। देश में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सेना ने कुल आठ क्वारंटाइन सेंटर को स्थापित किया है। साथ ही घाटी में भी सेना लोगों की मदद कर रही है।