Home हिन्दी फ़ोरम महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीएसआर से पुलिस को मिली स्कूटी

महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीएसआर से पुलिस को मिली स्कूटी

163
0
SHARE
महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीएसआर के तहत भिवाड़ी पुलिस को मिली स्कूटी
 
राजस्थान में महिलाओं (Women Safety in Rajasthan) की सुरक्षा एक महत्वपूर्ण विषय है। ऐसे में राजस्थान सरकार और कॉरपोरेट एक साथ आये है। राजस्थान की उद्योग मंत्री शकुंतला रावत की पहल से हीरो मोटोकॉर्प कंपनी द्वारा एक अहम सीएसआर पहल किया गया है। हीरो मोटोकॉर्प कंपनी ने भिवाड़ी में महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुपहिया वाहनों को भिवाड़ी पुलिस को सौंपा है। उद्योग व वाणिज्य मंत्री शकुंतला रावत ने अलवर के नीमराना में स्थित हीरो मोटोकॉर्प द्वारा सीएसआर के तहत ‘हमारी परी’ गतिविधि के अन्तर्गत 10 स्कूटी व 5 मोटर साइकिल कार्यवाहक पुलिस अधीक्षक भिवाडी विपिन कुमार को सौंपी।

CSR से महिलाओं की सुरक्षा के लिए 10 स्कूटी व 5 बाइक पुलिस के बेड़े में शामिल

The CSR Journal से ख़ास बातचीत में राजस्थान (Rajasthan News) की उद्योग व वाणिज्य मंत्री शकुंतला रावत ने बताया कि “हीरो मोटोकॉर्प द्वारा महिला सुरक्षा की दिशा में सीएसआर गतिविधि के तहत संचालित की गई ‘हमारी परी’ इनिशेटिव एक नायाब कदम है। इन दुपहिया वाहनों से नीमराना-बहरोड क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा में पुलिस (Rajasthan Police) को गश्त करने में काफी सहूलियत होगी जिससे क्षेत्र में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाने में काफी मदद मिलेगी”।

सीएसआर (CSR) से कानून व्यवस्था और सुरक्षा सुधारने की कवायद

मंत्री शकुंतला रावत ने हीरो मोटोकॉर्प से आह्वान किया कि महिलाओं की सुरक्षा और राज्य में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाने में इस तरह के और भी सीएसआर अभियान को आगे बढ़ाने की जरुरत है। हीरो मोटोकॉर्प (Hero Bike) के सीएसआर (Corporate Social Responsibility) हेड भारतेन्दु काबी ने कंपनी के सीएसआर मद के अम्ब्रेला प्लान ‘हीरो वी केयर’ अन्तर्गत ‘हमारी परी’ आदि के बारे में राजस्थान में की जा रही गतिविधियों के बारे में विस्तार से बताया। गौरतलब है कि हीरो मोटोकॉर्प अपने सीएसआर पहल से इसी तरह पुलिस महकमों के लिए बाइक या फिर स्कूटी वितरित करती है ताकि कानून व्यवस्था को सुचारु रूप से लागू किया जा सके।