Home हिन्दी फ़ोरम 6 लाख मरीजों का इलाज कर जरूरतमंदों के लिए वरदान बन रहा...

6 लाख मरीजों का इलाज कर जरूरतमंदों के लिए वरदान बन रहा है ‘आपला दवाखाना’

330
0
SHARE
 
महाराष्ट्र की जरूरतमंद जनता के स्वास्थ्य को लेकर संवेदनशील मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने ‘हिंदूहृदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे आपला दवाखाना’ नामक क्लिनिक की शुरुआत हाल ही में की थी जिसका फायदा अब बढ़चढ़ कर मुंबईकर ले रहें हैं। समूचे मुंबई में ‘आपला दवाखाना’ (Apla Davakhana in Mumbai) के 106 क्लिनिक हैं जहां 6 लाख मरीजों को इसका फायदा हुआ है। बाला साहब ठाकरे की पुण्यतिथि 17 नवंबर 2022 को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (CM Eknath Shinde) ने मुंबई की स्वास्थ्य जरूरतों और अस्पतालों में बढ़ते भीड़ को देखते हुए ‘हिंदूहृदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे आपला दवाखाना’ का उद्घाटन किया था जिसका फायदा अब मुंबई की जरूरतमंद जनता को हो रही है।

शहरी झोपड़ीयों में रहने वाले लोगों के लिए फायदेमंद हो रहा है आपला दवाखाना

इस दवाखाना में 147 प्रकार के खून की जांच निशुल्क हो रहा है। निशुल्क चिकित्सा जांच (Free Medical Treatment in Mumbai), दवा, मामूली चोट लगने पर मरहम पट्टी भी निःशुल्क प्रदान की जाती हैं। इसके अलावा, सरकारी दरों पर एक्स-रे, सोनोग्राफी आदि परीक्षणों के लिए पैनल डायग्नोस्टिक केंद्रों के माध्यम से संबंधित चिकित्सा सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। साथ ही पॉली क्लीनिक व डायग्नोस्टिक सेंटर के माध्यम से भी विशेषज्ञ सेवाएं दी जा रही हैं। शहरी झोपड़ीयों (Mumbai Slums) से स्वास्थ सेवाओं की दुरी, समय और बहुत ज्यादा लोकसंख्या होने की वजह से भीड़ से ही लोग स्वास्थ सेवाओं से वंचित रह रहे थे, इन सब को ध्यान में रखते हुए ही नेशनल अर्बन हेल्थ मिशन के अंतर्गत ‘आपला दवाखाना’ क्लिनिक को मंजूर किया गया है।

मुफ्त इलाज, कंप्यूटराइज सिस्टम समेत दवाखाना की ये खूबियां

मुंबई महानगरपालिका यानी बीएमसी ये क्लिनिक संचालित करती है और ख़ास बात ये है कि ये क्लिनिक सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक और दोपहर 3 बजे से रात 10 बजे तक खुले रहते हैं। यानी अगर आपको इन दवाखानों में अपना इलाज करवाना है तो समय की कोई पाबंदी नहीं है आप रात 10 बजे तक कभी भी क्लिनिक जा सकते हैं। इसके अलावा इन क्लीनिकों से मरीजों की जानकारी, रोग का विवरण, औषधियों का भण्डारण एवं वितरण तथा संदर्भित डायग्नॉस्टिक सुविधाओं को नवीनतम तकनीक के आधार पर टैब आधारित तरीके से सॉफ्टवेयर के माध्यम से रिकॉर्ड किया जा रहा है। इसी के चलते हिंदू हृदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे आपला दवाखाना में पेपरलेस तरीके से काम कर रहे हैं और विकल्प के तौर पर पर्यावरण की पूर्ति कर रहे हैं।