Home हिन्दी फ़ोरम भायखला रेलवे अस्पताल को मिला 4.44 करोड़ का सीएसआर

भायखला रेलवे अस्पताल को मिला 4.44 करोड़ का सीएसआर

65
0
SHARE
 
कोरोना के तीसरी लहर की आहट के बीच सेंट्रल रेलवे से अच्छी ख़बर आ रही है। रेलवे अस्पताल भायखला को बड़े पैमाने पर कोविड और गैर-कोविड  स्वास्थ्य देखभाल के लिए मेडिकल उपकरणों और उनकी खरीद के लिए सीएसआर (Corporate Social Responsibility) मददगार साबित हुआ है। दरअसल साल 2021 के दौरान, मध्य रेल महिला कल्याण संगठन (CRWWO) ने मीनू लाहोटी की अध्यक्षता में रेलवे अस्पताल भायखला को कॉकलियर इम्प्लांट और अन्य उपकरण जैसी स्वास्थ्य संबंधी वस्तुओं भेंट कर अपना योगदान दिया है।

सीएसआर की मदद से रेलवे यात्रियों को मिलती है सहूलियतें

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और स्टेकहोल्डर्स ने दोनों कोविड और गैर-कोविड स्वास्थ्य देखभाल के लिए डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर मेमोरियल रेलवे अस्पताल, भायखला के विभिन्न विभागों में उपयोग के लिए विभिन्न चिकित्सा उपकरणों और उपकरणों की खरीद के लिए योगदान दिया है। सेंट्रल रेलवे का यह अस्पताल मरीजों को उचित स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में बहुत मददगार रहा है। सेंट्रल रेलवे के जनरल मैनेजर अनिल कुमार लाहोटी की अध्यक्षता में प्रधान मुख्य चिकित्सा निदेशक वाई.एस. अटरिया और चिकित्सा निदेशक डॉ. मीरा अरोड़ा की टीम ने सीएसआर (CSR) के तहत मदद पाने के लिए विभिन्न संगठनों से संपर्क किया था।

एक साल में मिला भायखला रेलवे अस्पताल को 4 करोड़ 44 लाख रुपये सीएसआर

मध्य रेल ने महामारी के इस कठिन समय के दौरान स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए बड़े स्तर पर काम किया। स्वास्थ्य देखभाल के लिए सीएसआर के तहत मदद पाने के लिए सेंट्रल रेलवे के जनरल मैनेजर अनिल कुमार लाहोटी और सेंट्रल रेलवे विमेंस वेलफेयर आर्गेनाईजेशन की अध्यक्ष मीनू लाहोटी लगातार कोशिश करती रही और साल 2021 में सिर्फ डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर मेमोरियल रेलवे अस्पताल, भायखला के लिए देश के तमाम कॉरपोरेट्स से 4 करोड़ 44 लाख रुपये सीएसआर (कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी) फंड इक्कठा किया जो कबीले तारीफ है। सेंट्रल रेलवे के जीएम ने विभिन्न कॉरपोरेट्स का सीएसआर के लिए धन्यवाद दिया है।

CSR के तहत इन कॉरपोरेट्स ने की है इतने की मदद

1. कॉकलियर इम्प्लांट (RCF से CRWWO – मूल्य रु.16.53 लाख)
2. पीसी, व्हीलचेयर, वॉकर और अन्य गतिशीलता उपकरण, ट्रॉली, रसोई के उपकरण (सीआरडब्ल्यूडब्ल्यूओ, एनआरएमयू, इनरव्हील क्लब ऑफ मुंबई नरीमन पॉइंट, लायंस क्लब – मूल्य रु.10 लाख)
3. ज्वाइंट रिप्लेसमेंट और स्पाइन सर्जरी के लिए कंप्यूटर नेविगेशन सिस्टम (भारतीय रेलवे वित्त निगम – मूल्य रु. 2.8 करोड़)
4. 960 एलपीएम ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट (मझगांव डॉकयार्ड लिमिटेड – मूल्य 94.5 लाख रुपये)
5. ईएनटी के लिए ऑडियोमीटर, बेरा और माइक्रोमोटर ड्रिल (राष्ट्रीय रसायन और उर्वरक – मूल्य रु 20 लाख)
6. सिरिंज पंप, इन्फ्यूजन पंप, रोगी और रक्त वार्मर, सर्जिकल टूर्निकेट, मल्टी-पैरामीटर (भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम – मूल्य रु17.5 लाख)
7. प्रयोगशाला उपकरण (केंद्रीय भंडारण निगम और मुंबई रेलवे विकास निगम मूल्य 21 लाख रुपये)
8. मेड-ईएल (डीएफसीसीआईएल और प्लासर इंडिया-मूल्य 49.70 लाख रुपये) के कर्णावत प्रत्यारोपण
9. स्टेनलेस स्टील बेंच (भारतीय प्रवासी केंद्र-मूल्य 6.00 लाख रुपये),
10. एक्वागार्ड के साथ वोल्टास वाटर कूलर (भारतीय प्रवासी केंद्र-मूल्य 1.00 लाख रुपये)