Home हिन्दी फ़ोरम सीएसआर से स्कूलों में लगेगी सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीनें

सीएसआर से स्कूलों में लगेगी सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीनें

19
0
SHARE
 

सीएसआर से स्कूलों में लगेगी सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन

भारत सरकार की मिनीरत्न कंपनी नार्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (NCL) ने सीएसआर के तहत सिंगरौली और सोनभद्र जिले में बड़े पैमाने पर सामाजिक काम करने का जिम्मा उठाया है। नार्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने दोनों जिलों के 25 सरकारी स्कूलों में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगवाने का निर्णय लिया है। कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (Corporate Social Responsibility) के तहत इस सामाजिक काम के लिए नार्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने हिंदुस्तान लाइफकेयर लिमिटेड (HLL) के साथ एक समझौता किया है। नार्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड जहां भारत सरकार की एक मिनीरत्न पीएसयू है वहीं हिंदुस्तान लाइफकेयर लिमिटेड स्वास्थ्य एवं पर्सनल हाईजीन के क्षेत्र में काम करने वाली भारत सरकार की एक सार्वजनिक उपक्रम कंपनी है।
इस योजना के तहत सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीनों के जरिए छात्राओं को आने वाले तीन सालों तक फ्री सैनिटरी पैड उपलब्ध कराए जाएंगे । इस्तेमाल के बाद सैनिटेरी पैड के समुचित सुरक्षित निस्तारण के लिए विद्यालयों में इन्सिंनेरेटर भी लगाया जाएगा। इस योजना से 5 हज़ार से अधिक छात्राएं लाभान्वित होंगी। इस योजना के अंतर्गत स्कूलों में छात्राओं को स्वच्छता टॉक के माध्यम से स्वच्छता व स्वस्थ्य संबंधी सलाह व सही जानकारी भी दी जाएगी। सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन लगवाने के साथ साथ  नार्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड और  हिंदुस्तान लाइफकेयर लिमिटेड ने कोविड-19 की रोकथाम व इससे बचने के लिए विद्यालयों में सैनिटाइजर वेंडिंग मशीन व सैनिटाइजेशन बॉक्स लगवाने का भी जिम्मा उठाया है।

रायपुर में जिला स्तर पर होंगे सीएसआर (CSR) पॉलिसी

छत्तीसगढ़ के रायपुर में सीएसआर को लेकर एक अहम फैसला लिया गया है। कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी समेत अन्य योजनाओं को लेकर बड़े स्तर पर एक समीक्षा बैठक थी, इस बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव आर पी मण्डल ने राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं की अधिकारियों से रिपोर्ट ली। इस बैठक में ये फैसला लिया गया कि जिलों में सीएसआर मद से कराए जाने वाले कार्याे के लिए जिला स्तर पर पॉलिसी बनेगी। साथ ये भी फैसला हुआ कि सरकारी अस्पताल डी के एस में मेडिकल फेसिलिटी की भी सुधार होगी। सीएसआर की मदद से प्रदेश में कोल्ड स्टोरेज को बढ़ावा दिया जाएगा। इन फैसलों से ना सिर्फ स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर होंगी बल्कि किसानों को भी फायदा होगा।

बेंगलुरु को स्वच्छ बनाएगा गेल इंडिया

सीएसआर के तहत बेंगलुरु शहर को स्वच्छ बनाने के लिए और “स्वच्छ भारत मिशन” को समर्थन देने के लिए गेल (इंडिया) लिमिटेड ने 18 ड्राई वेस्ट कलेक्शन व्हीकल्स दिए है। इन गाड़ियों की कुल लागत एक करोड़ रुपये है जो गेल इंडिया ने बेंगलुरु महानगर पालिक (बीबीएमपी) को सौंपी है। गेल द्वारा सीएसआर पहल के तहत दी गयी गाड़ियां सूखे कचरे को उठाने के काम आएंगे। जिससे बेंगलुरु शहर को और भी स्वच्छ रखा जा सकेगा। ये 18 ड्राई वेस्ट कलेक्शन व्हीकल्स दोहरी ईंधन पर चलते हैं, यानि ये प्राकृतिक गैस (CNG) और पेट्रोल दोनों पर चल सकेंगी। सीएनजी एक पर्यावरण के इको फ्रेंडली ईंधन है जो पारंपरिक ईंधन की तुलना में सस्ता है और रखरखाव लागत को भी कम करता है। जिससे पर्यावरण को भी नुकसान नहीं है।