Home Leaders Speak कोरोना वैक्सीन लगवाने जा रहें हैं? ये जरूर पढ़ें

कोरोना वैक्सीन लगवाने जा रहें हैं? ये जरूर पढ़ें

371
0
SHARE
Dr. Nirmal Gujarathi
 
कोरोना की इस जंग में 1 मई का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण है। क्योंकि 18 साल से ज्यादा की उम्र के लोगों को आज 1 मई से टीका लगने की शुरुआत हो चुकी है। टीकाकरण की आज पूरे देश भर में शुरुआत हुई है। बड़े पैमाने पर युवा वर्ग विश्व के सबसे बड़े टीका अभियान में हिस्सा ले रहा है। वैक्सीनेशन ड्राइव को लेकर तमाम सवाल भी है। वैक्सीन कितना सेफ है, वैक्सीन के पहले या बाद शराब का सेवन करना चाहिए या नही, प्रेग्नेंसी में कोरोना वैक्सीन कितना सेफ है इन तमाम सवालों का जवाब देने के लिए हमारे साथ मौजूद है डॉक्टर निर्मल गुजराती।

बहुत बहुत स्वागत है The CSR Journal में। मेरा सबसे पहला सवाल आपसे है कि कोरोना वैक्सीन लगवाना कितना सेफ है?

कोरोना वैक्सीन लगवाना 100 फ़ीसदी सुरक्षित है। गवर्नमेंट ऑफ इंडिया ने जो वैक्सीनेशन ड्राइव का डाटा पब्लिश किया हुआ है उसके मुताबिक पहला डोस लेने के बाद लगभग 12 करोड़ लोगों में से 0.03 लोग ही कोरोना संक्रमित हुए है। सेकंड डोस के बाद वैक्सीन का असर और बढ़ जाता है। यानी आंकड़ों में बात करें तो 12 करोड़ में से महज 18 हज़ार लोगों को कोविड हुआ है। इन आंकड़ों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोना वैक्सीन लगाने कितना महत्वपूर्ण है। कोरोना वैक्सीन बहुत असरदार है। आप नजदीकी सेंटर में जरूर जाकर वैक्सीन लगवाएं। वैक्सीन बिल्कुल सुरक्षित है। 100 फीसदी सुरक्षित है।

वैक्सीन लगने के बाद हमें क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

वैक्सीन लगवाने के बाद सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए। सेंटर पर आपकी जागरूकता के लिए और वैक्सीनेशन के बाद क्या करें, क्या ना करें इसका ऑडियो सुनाया जाता है, बताया जाता है। वैक्सीन लगवाने के बाद आपको बुखार आ सकता है, अगर ऐसा होता है तो आपको बताया जाएगा कि आप बुखार की दवाई ले सकतें हैं। आपको शरीर, सिर में दर्द हो सकता है, किसी को थोड़ा बीपी बढ़ सकता है, ये सब बहुत नार्मल है। आधे घंटे तक आपको सेंटर पर बिठाकर चेक किया जाता है और फिर घर जाने दिया जाता है। अगर ये कुछ सिम्टम्स दिख रहे है तो आप पैरासिटामॉल की गोली खा सकते है। हां आपको वैक्सीन लगवाने के बाद भी मास्क पहनना है। हाथ सेनेटाइज करना है, दूरी बनानी है।

क्या प्रेग्नेंट महिलाएं भी कोरोना वैक्सीन लगवा सकती है?

गायनेकोलॉजिस्ट सोसाइटी ने तो वैक्सीन के लिए रेकमेंड किया है कि प्रेग्नेंट महिलाओं को भी वैक्सीन देना चाहिए। लेकिन भारत सरकार ने कहा है कि ये ट्रायल फेज है और सरकार की तरफ से अभी इसकी शुरुआत नही हुई है जैसे सरकार की तरफ से गर्भवती महिलाओं के लिए वैक्सीनेशन की शुरूआत होगी तो हम करेंगे।

जो कपल्स कंसीव करना चाहते है क्या वो वैक्सीन लगवा सकते है?

जो कपल्स कंसीव करना चाहते है उन्हें बिल्कुल वैक्सीन लगवाना चाहिए। आप प्रेग्नेंसी की अगर तैयारी करते है तो आपके लिए वैक्सीन बिल्कुल सुरक्षित है। वैक्सीन लेने से फर्टिलिटी की कोई दिक्कत नही होती है। ये जो आजकल व्हाट्सएप और सोशल मीडिया पर घूम रहा है वो पूरी तरह से गलत है। जो प्रेग्नेंसी चाहती है उनको अपने मन में कोई शंका रखना ही नही है। वैक्सीन जैसे मिले आप ले लो। आप पर या फिर आपके पति पर कोई फर्क नही पड़ेगा।

क्या मासिक पीरियड के दौरान महिलाएं कोरोना वैक्सीन लगवा सकती हैं?

पीरियड और वैक्सीन का कोई संबंध नही है। बिल्कुल पीरियड्स के दौरान, माहवारी के दौरान वैक्सीन लिया जा सकता है। प्लीज आप सोशल मीडिया, व्हाट्सएप या फिर कोई भी मेसेंजर के मेसेजेस को इग्नोर करें। प्रॉपर डॉक्टर की सलाह लें। ये सब भ्रांतियां है। अगर आप पीरियड्स में भी है तो भी आप जाकर वैक्सीन ले लीजिए।

क्या शराब का सेवन कोरोना वैक्सीन के पहले या फिर बाद में कर सकते है?

शराब से वैक्सीन के असर पर कोई फर्क नही पड़ता, ऐसा खुद गवर्नमेंट ऑफ इंडिया का वेबसाइट कहता है। वैक्सीन की वजह से बुखार, सिर दर्द, बदन दर्द हो सकता है ऐसे में इससे बचने के लिए शराब का सेवन नही करें यही सलाह है। वैक्सीन लेने से पहले 48 घंटे पहले शराब न पिएं, उसके बाद भी 48 घंटे शराब ना पिएं, यही एडवाइस दिया जाता है। ऐसा करना सेहतमंद भी है।

क्या अन्य नशे की लत, जैसे सिगरेट, तंबाकू या फिर दूसरे नशीले पदार्थों का सेवन कर सकते है?

अब जिन लोगों को ये आदत है वो तो छोड़ने वाले नही है । लेकिन अभी तक ऐसा कोई डेटा या फिर प्रमाण नही है कि इन नशीली चीजों के सेवन के बाद वैक्सीन का असर कम हुआ हो। अभी तक नशीले पदार्थों जैसे मैंने शराब को लेकर बोला इन सब को लेकर कोई स्पष्ट गाइडलाइंस नही है। लेकिन हम यही एडवाइस करते है कि वैक्सीन लेने के कुछ घंटों तक इससे दूर रहें। अब तक ये पाया गया है कि जो लोग नशा करते है, शराब पीते है, उनका कोरोना से संक्रमित होने के ज्यादा चांसेस होते है। तो ऐसे में आप इन नशों से दूर रहकर वैक्सीन जरूर लगवाएं।

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद क्या डाइट/खानपीन में कोई बदलाव लाना चाहिए?

डाइट और वैक्सीन का आपस में कोई लेनादेना नही है। आप जो हमेशा से खा रहे हो वही खाईये। संतुलित भोजन कीजिये, प्रॉपर हेल्थी डाइट लीजिये। खाने में कोई परहेज या रोकटोक नही है।

डायबिटीज बीपी के मरीजों के लिए तो वैक्सीन लगाना सेफ है। लेकिन उन मरीजों के लिए भी क्या वैक्सीन सेफ है जो कैंसर, HIV, या अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त है?

वैक्सीन सबके लिए बनाया गया है। गंभीर बीमारियां जैसे किडनी की बीमारी हो, हार्ट की बीमारी हो, मिरगी की बीमारी हो या फिर डायबिटीज हो, ब्लड प्रेशर हो, आपको वैक्सीन लेना ही चाहिए। कोरोना के इस जंग में Vaccine लेना सबके लिए बेहद जरूरी है। वैक्सीन की वजह से किसी को कोई तकलीफ नही हुआ है। हा ये जरूर करें कि जब भी आप वैक्सीन ले रहें हो तब आप अपने ट्रीटिंग डॉक्टर से जरूर टच में रहें और जब कोई तकलीफ हो तो उनसें जरूर कंसल्ट करें।

Corona Vaccine लगवाने के बाद कई केसेस में बुखार तक आ जाते है या दूसरे साइड इफेक्ट्स हो जाते है ऐसे में वैसे ही अस्पतालों पर तनाव है और फिर ज्यादा तनाव तो नही आ जायेगी?

वैसे देखा जाय तो वैक्सीन लगवाने के बाद बहुत कम लोगों को तकलीफ हुई है। और जिनको कोई तकलीफ हुई है उनमें ये पाया गया है कि उन्होंने कुछ बात छुपाई है, जैसे पहले से ही आपको सर्दी बुखार है। वैक्सीन लगवाने के बाद आपको ऐसी कोई नौबत नही आती है कि आपको अस्पताल जाना पड़ जाए। हम वैक्सीन लगवाने के बाद आधा घंटा बिठाकर सब समझाते है। अगर आपको 2 दिन से ज्यादा बुखार आ ही रहा और तीन चार दिन तक बुखार रह रहा है और उसी दरमियान आपको कोरोना था और आपने वैक्सीन ले लिया है। ऐसे केसेस आये है। बहुत रेयर केसेस आये है ऐसे। लेकिन हॉस्पिटल्स पर कोई प्रेशर नही हो रहा है। मामूली बुखार और बदन दर्द में आप गोली खाईये और आपको आराम मिल जाएगा।

अगर कोई कोरोना से पहले ही संक्रमित हुआ है तो उसे कितने दिनों बाद कोरोना वैक्सीन लगवाना चाहिए?

अगर कोई पहले से ही कोरोना संक्रमित हो गया हो और कोरोना को हरा चुका हो तो वो भी वैक्सीन लगवा सकते है। लेकिन कब लगवाना है इसमें मेडिकल फ्रेटर्निटी में दो राय है। एक तबका कहता है कि 15 दिन बाद संक्रमित व्यक्ति वैक्सीन लगवा सकता है। लेकिन हम लोग यही एडवाइस कर रहे है कि 4 से लेकर 6 हफ़्ते बाद आप वैक्सीन लगवा सकते है।

वैक्सीन की कमी के चलते जिन लोगों ने वैक्सीन का पहला डोज़ ले लिया है लेकिन दूसरा डोज़ नही लग पाया है तो उसमें कोई दिक्कत है?

जैसे मैंने पहले आपको बताया कि गवर्नमेंट ऑफ इंडिया का जो डेटा आया है कि वैक्सीन का पहला डोज़ लेने के बाद 99 फीसदी तक इम्यूनिटी बूस्टअप हो चुका है तो ऐसा में आपको डरने की बात नही है। छोड़ा आगे पीछे हो जाये तो भी चल जाएगा। लेकिन पहला जो डोज़ था वही आपको दूसरे डोज में भी लेना है, उसे चेंज नही करना है।

अच्छा यानी आपको डोजेज में बदलाव नही करना है?

नही, आपको डोजेज में बदलाव नही करना है। अगर पहले डोज़ में आपने कोवैक्सीन लिया है तो आपको दूसरे डोज़ में भी कोवैक्सीन ही लेना है। बदलना नही है। और अगर अपने कोविशिल्ड लगी है तो दूसरे डोज़ में भी कोविशिल्ड ही लगवाना है। दोनों मिक्स नही करना है।

कोवैक्सीन सही है या कोविशिल्ड?

देखिए, दोनों ही वैक्सीन सही है, अच्छे है। आपका जब भी नंबर आता है और जो भी मिलता है वो लगवाएं ।

आप The CSR Journal के दर्शकों से वैक्सीन को लेकर क्या अपील करेंगे?

अभी गवर्नमेंट ऑफ इंडिया ने 18 साल के ऊपर वालों के लिए वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत की है। रजिस्ट्रेशन हो रहा है। मोबाइल पर जाकर, वेबसाइट पर जाकर आप अपने आप को वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करवाएं। और प्लीज प्लीज प्लीज कोरोना को मात देने के लिए वैक्सीन जरूर लगवाएं। हमनें ये देखा है कि जिन्होंने वैक्सीन लिया है और अगर उन्हें कोरोना हुआ तो उन्हीने बहुत आसानी कोरोना को हराया है। उन्हें कोई खतरा नही हुआ है। 12 करोड़ में महज चंद लोग ही है जिन्हें कोरोना हुआ। वैक्सीन बिल्कुल सेफ है, सुरक्षित है। जो भी वैक्सीन मौजूद है आप वो जरूर लें।

आपने भी वैक्सीन ली है, क्या रहा आप का एक्सपीरियंस?

हेल्थकेयर वर्कर होने के नाते मुझे मेरे हॉस्पिटल से कोविशिल्ड वैक्सीन लगाया गया था। जिस दिन मैंने वैक्सीन लिया उस दिन मैंने तीन ऑपरेशन किये। घर पर जाने के बाद मैं थका हुआ था। थोड़ा मुझे बदन दर्द हुआ। उसके बाद मुझे कोई तकलीफ नही हुई। दूसरा डोज़ एक महीने बाद लिया। उसमें भी कोई तकलीफ नही। मैं पिछले एक साल से कोविड पेशेंट देख रहा हूं। मुझे कोई तकलीफ नही है। एक बार मैं फिर से अपील करता हूं कि आप जरूर वैक्सीन लें।
बिल्कुल, The CSR Journal भी आपसे यही अपील करता है कि आप भी जरूर वैक्सीन लें। ये पूरी तरह सुरक्षित है।