Home हिन्दी फ़ोरम छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में सीएसआर पहल से रोशन होंगे छात्रावास

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में सीएसआर पहल से रोशन होंगे छात्रावास

276
0
SHARE
छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में सीएसआर पहल से रोशन होंगे छात्रावास
 
कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी की मदद से समाज के जरूरतमंद लोगों को बहुत फायदा हो रहा है। सीएसआर की मदद से किसी को जीवन जीने के लिए कौशल का आधार मिल रहा है तो किसी को स्वास्थ्य लाभ मिल रहा है। समाज के जरूरतमंद लोगों के छोटे-छोटे काम जिसे सरकारें पूरा नहीं कर पा रही है ऐसे में Corporate Social Responsibility की पहुंच उनकी जिंदगियों में सकारात्मक बदलाव ला रही है। स्वास्थ्य हो या शिक्षा, कौशल हो या पर्यावरण जहां बात सामाजिक बदलाव की आती है सीएसआर की भूमिका बहुत अहम हो जाती है। देश की सरकारें और प्रशासन भी सीएसआर फंड की मदद से जरूरतमंदों के लिए मददगार साबित हो रहे है।

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में सीएसआर पहल से 18 हॉस्टल पर लगेंगे सोलर पैनल

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में सीएसआर पहल से 18 छात्रावास (हॉस्टल) रोशन होने वाले है। इन 18 छात्रावासों पर सीएसआर की मदद से सोलर पैनल लगाए गए है। CSR के इस पहल से 2 हजार बच्चों को लाभ मिलने वाला है। ये 18 छात्रावास (Hostel in Raigarh, Chhattisgarh) छत्तीसगढ़ के रायगढ़ के दूर दराज इलाकों में आते है। छात्रों की सुविधा और सुरक्षा की दृष्टि से सीएसआर की ये पहल बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

Chhattisgarh में 325 करोड़ रुपये सीएसआर एक्सपेंडीचर हुए

Raigarh के कलेक्टर तरन प्रकाश सिन्हा की पहल से आईसीआईसीआई बैंक अपने CSR Funds से इन 18 हॉस्टल में Solar Panel पर फंडिंग करने के लिए राजी हुई है। रायगढ़ में सीएसआर फंडिंग के लिए कलेक्टर तरन प्रकाश सिन्हा लगातार समीक्षा बैठक करते रहते है और जरुरत के हिसाब से इस तरह के CSR Initiatives होते है। छत्तीसगढ़ आदिवासी बहुल इलाका है और ज्यादातर CSR यहां PSU करते है। आकड़ों की बात करें तो साल 2020-2021 में Chhattisgarh में 325 करोड़ रुपये के सीएसआर एक्सपेंडीचर हुए और 210 कॉरपोरेट ने यहां अपना सीएसआर एक्टिविटीज किये।