Home हिन्दी फ़ोरम मॉडल केंद्र के रूप में विकसित होंगे यूपी के आंगनबाड़ी केंद्र

मॉडल केंद्र के रूप में विकसित होंगे यूपी के आंगनबाड़ी केंद्र

657
0
SHARE
मॉडल केंद्र के रूप में विकसित होंगे यूपी के आंगनबाड़ी केंद्र
 
उत्तर प्रदेश में गर्भवती महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने पिछले 6 सालों में कई बड़े कदम उठाए हैं। इसी क्रम में अब योगी सरकार गर्भवती महिलाओं और शिशुओं के स्वास्थ्य (Health News of Uttar Pradesh) के लिए आंगनबाड़ी केंद्रों की अवस्थापना सुविधाओं को और बेहतर बनाने के साथ ही उनको मॉडल केंद्र के रूप में विकसित करने जा रही है। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने हाल ही में महिला कल्याण एवं बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के आला अधिकारियों को इस संबंध में दिशा-निर्देश दिए हैं।

यूपी सीएम योगी ने दिए आंगनबाड़ी केंद्रों को बेहतर बनाने के निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि उत्तर प्रदेश के सभी जिलों के आंगनबाड़ी केंद्रों में बिजली, स्वच्छ पेयजल, शौचालय, रसोई घर में सिंक के साथ नल से जल की व्यवस्था की जाए। आंगनबाड़ी केंद्रों पर साफ-सफाई के विशेष प्रबंधन के लिए व्यापक इंतजाम पुख्ता किए जाएं। यही नहीं, सीएम योगी ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी अपनी जिम्मेदारी को और गंभीरता के साथ निर्वहन के लिए भी कहा। इसके अनुसार, उत्तर प्रदेश में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से घर-घर जाकर गर्भवती महिलाओं और शिशुओं को पोषक आहार वितरित किया जाए। साथ ही बच्चों और महिलाओं के पोषण और सेहत से संबंधित कार्यशालाओं के जरिए उन्हें अधिक जागरूक किया जा जाए।

यूपी के आंगनबाड़ी केंद्रों में बिजली, स्वच्छ पानी, शौचालय की दी जाएगी सुविधा

गौरतलब है कि विभागीय आंगनबाड़ी केंद्रों को सक्षम आंगनबाड़ी केंद्रों (Anganbadi Kendra in UP) के रूप में अपग्रेड किए जाने के लिए पहले फेज में 8 एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट (Aspirational District of Uttar Pradesh) के 2349 आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए फंड 30 मार्च 2023 को आवंटित की जा चुकी है। वहीं 28 मार्च के दूसरे चरण में 38120 आंगनबाड़ी केंद्रों को अपग्रेड किए जाने के लिए भारत सरकार से फंड की मांग की गई है।

यूपी के इन आंगनबाड़ी केंद्रों पर सीएसआर से फंड जुटाने की कोशिश

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार कॉरपोरेट से भी चाह रही है कि वो अपने सीएसआर फंड (CSR Funds) का इस्तेमाल इन आंगनबाड़ियों के अपग्रडेशन में करें। हम आपको बता दें कि सक्षम आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से गर्भवती महिलाओं और शिशुओं की अच्छी देखभाल सुनिश्चित हो सकेगी। ऐसे में सीएम योगी की पहल गर्भवती महिलाओं और शिशुओं को और भी स्वस्थ बनाएगी।