Home हिन्दी फ़ोरम राहुल के गढ़ वायनाड में स्मृति ईरानी ने की सीएसआर की समीक्षा

राहुल के गढ़ वायनाड में स्मृति ईरानी ने की सीएसआर की समीक्षा

40
0
SHARE
राहुल गांधी के गढ़ वायनाड में स्मृति ईरानी ने सीएसआर की समीक्षा की, सियासत गर्म
 
केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani in Wayanad, Kerala) ने मंगलवार को केरल में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के संसदीय क्षेत्र वायनाड का दौरा किया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने कई मुद्दों को उठाते हुए आरोप लगाया कि जिस तरह से जिले में विकास होना चाहिए था उस तरह से अभी बहुत कुछ नहीं किया गया है। केंद्रीय मंत्री ईरानी ने स्थानीय प्रशासन के साथ एक समीक्षा बैठक भी की। इस समीक्षा बैठक में जिले के विकास में सीएसआर का योगदान, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे तमाम मुद्दों को उठाया।

वायनाड में स्मृति ईरानी ने सीएसआर की समीक्षा की, राहुल गांधी पर किया सवाल

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने लगभग 1.35 लाख घरों में पानी के कनेक्शन की कमी, आदिवासियों में स्वास्थ्य के मुद्दों की उपेक्षा, उनके भूमि रिकॉर्ड का गैर-डिजिटलीकरण और स्किल डेवलपमेंट सुनिश्चित करने जैसी कई कमियों की तरफ इशारा किया। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि आदिवासियों (Tribals) के जीवन को आसान बनाने की जरूरत है। जिले में बुनियादी ढांचे को मजबूत और विकसित करने की जरूरत है। स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण और वित्तीय सेवाओं जैसी सेवाओं को वहां के लोगों खासकर सबसे गरीब लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है।

Wayanad में स्मृति ईरानी ने ट्राइबल और महिलाओं से की मुलाकात

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने बताया कि उन्हें आज पता चला कि वायनाड जिले में करीब 57 हज़ार किसान ऐसे हैं जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड नहीं है, 1.35 लाख परिवारों के घरों में पानी के कनेक्शन नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार की कई योजनाएं है  जैसे कि प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि को भी लागू नहीं किया जा रहा है।

वायनाड में सीएसआर से बनी आंगनबाड़ी का भी किया स्मृति ईरानी ने दौरा

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने वायनाड जिले के कन्याम्बेट्टा ग्राम पंचायत में अपनी सीएसआर गतिविधियों के तहत केंद्र सरकार के सार्वजनिक उपक्रम (PSU) द्वारा विकसित वरदूर आंगनवाड़ी केंद्र का दौरा भी किया। स्मृति ईरानी ने वायनाड जिले के वन स्टॉप सेंटर का दौरा किया और वहां के पदाधिकारियों और लाभार्थियों से बातचीत की। वायनाड में मारवायल और अंबालाचल क्षेत्र के आदिवासी परिवारों से भी बातचीत की।
गौरतलब है कि वायनाड एक पिछड़ा जिला है और नीति आयोग ने इसे एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट (Aspirational District Waynad) की कैटेगरी में रखा है। पूरे दौरे के दौरान स्मृति ईरानी राहुल गांधी के खिलाफ आक्रामक रही और विकास नहीं करने का आरोप लगायी, ऐसे में सियासी मायने भी निकाले जा रहे है। सियासी अटकलों के बीच में कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या स्मृति ईरानी राहुल गांधी के खिलाफ अब वायनाड क्षेत्र से चुनाव लड़ सकती हैं?