Home Header News एचसीएल के सीएसआर से होगी लावारिस कुत्तों की नसबंदी

एचसीएल के सीएसआर से होगी लावारिस कुत्तों की नसबंदी

546
0
SHARE
एचसीएल के सीएसआर से होगी लावारिस कुत्तों की नसबंदी, मिटेगा Dog Bites का खौफ
 
एनसीआर के ग्रेटर नोएडा में कुत्तों का खौफ कम होगा। कुत्तों के काटने की घटनाएं भी कम होंगी। हाल फिलहाल में ऐसी कई घटनाएं हमने अपने आसपास और सोशल मीडिया पर जरूर देखी होंगी कि राह चलते किसी व्यक्ति को कुत्ते ने काट लिया हो। Delhi NCR और Greater Noida News में कई ऐसी घटनाएं घट चुकी है लेकिन अब CSR की मदद से इससे निजात मिलने वाली है। दरअसल ग्रेनो प्राधिकरण ने शहर के लावारिस कुत्तों की नसबंदी और उनका टीकाकरण करने का फैसला किया है। Greater Noida Industrial Development Authority ने इसके लिए एचसीएल फाउंडेशन (HCL Foundation) के साथ करार किया है। लावारिस कुत्तों की नसबंदी और उनका टीकाकरण करने के लिए ग्रेटर नोएडा इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी ने पहले चरण में स्वर्ण नगरी, सेक्टर-36, सेक्टर-37, सिग्मा वन, दो, तीन और चार, ओमीक्राॅन-वन, सेक्टर म्यू-वन, पाई-वन और पाई दो में 600 कुत्तों की नसबंदी (Dogs Sterilisation) की जाएगी। यह चरण 31 मार्च तक खत्म करके डॉग को जहां से उठाया जाएगा वहीं पर छोड़ा जाएगा।

कुत्तों की नसबंदी को लेकर एचसीएल फाउंडेशन करेगी सीएसआर खर्च

The CSR Journal से ख़ास बातचीत करते हुए Greater Noida Industrial Development Authority के सीईओ Ravi Kumar N.G., (IAS) ने बताया कि शहर में बढ़ते लावारिस कुत्तों के लिए कोई संस्था टीकाकरण और Dogs Sterilisation नहीं कर रही थी। इसके लिए दो महीने से प्रयास किया जा रहा था और अब जाकर अथॉरिटी को सफलता मिली है। हमनें HCL Foundation के साथ करार किया है और वो हमें Corporate Social Responsibility Funds से मदद करने वाले है। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में सेक्टरों और सोसाइटियों में भी नसबंदी अभियान चलाया जाएगा। स्वर्णनगरी में बने नसबंदी केंद्र को और आधुनिक बनाया जाएगा। उसमें ऑपरेशन थिएटर में कुछ और सुविधाएं दी जाएंगी। नसबंदी के बाद पांच दिन तक कुत्तों को वहां पर रखा जाएगा और उनको एंटी रेबीज का टीका भी लगाया जाएगा। उसके बाद उन्हें जहां से लाया गया था, वहीं पर वापस छोड़ दिया जाएगा। यह अभियान निशुल्क रहेगा।

एनिमल राइट्स का ख्याल रखते हुए HCL के CSR से किया जायेगा नसबंदी

प्राधिकरण ने एचसीएल फाउंडेशन के साथ एचसीएल सीएसआर पर करार किया है और ग्रेटर नोएडा में यह फाउंडेशन ही कुत्तों की नसबंदी करेगा। कुत्तों की नसबंदी और टीकाकरण करने के बाद एचसीएल फाउंडेशन की ओर से कुत्तों को पट्टा पहनाया जाएगा। इससे उन कुत्तों की पहचान हो सकेगी। गौरतलब है कि इस पहल से स्थानीय लोगों को राहत मिलेगी और Dog Bites ने भी निजात मिलेगी। (Stray Dogs News) एचसीएल फाउंडेशन के इस पहल से कुत्तों के नसबंदी के बाद कुत्तों की तादाद में भी कमी आएगी। इस पूरे प्रक्रिया में एनिमल राइट्स का भी पूरा ख्याल रखा जायेगा।