Home हिन्दी फ़ोरम जीवनदायिनी है गुजरात सरकार की मुख्यमंत्री अमृतम योजना, मिलता है मुफ्त इलाज

जीवनदायिनी है गुजरात सरकार की मुख्यमंत्री अमृतम योजना, मिलता है मुफ्त इलाज

153
0
SHARE
जीवनदायिनी है गुजरात सरकार की मुख्यमंत्री अमृतम योजना, मिलता है मुफ्त इलाज
 
गुजरात में चुनाव है, त्रिकोणीय मुकाबले के बीच हर एक पार्टी अपने वोटरों को लुभाने में जुटी रही। आज आखिरी दौर का चुनाव संपन्न हो रहा है (Gujarat Election News)। लेकिन मुद्दों की बात करें तो गुजरात चुनाव में डेवलपमेंट, रोजगार, बिजली, पानी, सड़क जैसे मुद्दे तो रहे ही लेकिन स्वास्थ्य एक अहम मुद्दा रहा। आम आदमी पार्टी के गुजरात चुनाव (Gujarat Election) में दाखिल होने के बाद ‘मुफ्त’ की भी राजनीति हावी रहा। लेकिन इन सब के बीच हेल्थ (Health in Gujarat) एक ऐसा मुद्दा है जो बेहद महत्वपूर्ण है। जिसका सरोकार हर एक गुजरातियों से है। प्रत्येक गुजरात वासियों को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा देखभाल के लिए गुजरात सरकार साल 2012 (PM Narendra Modi) से ही एक बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना चला रही है जिससे गुजरात के लोगों को बहुत फायदा हो रहा है।
आज के दौर में हर एक इंसान को गुणवत्तापूर्ण Health Services मिलनी चाहिए फिर चाहे वह किसी भी आए वर्ग से संबंध रखता हो। स्वास्थ्य पर खर्च लगातार बढ़ रहा है और इससे खासतौर पर गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। भारत एक विकासशील देश है और लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के लिए गुजरात सरकार मुख्यमंत्री अमृतम योजना और मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना (MA Yojana and MA Vatsalya Yojana in Gujarat) चला रही है। MA Yojana के तहत Gujarat Government का लक्ष्य राज्य के अधिकतम लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाना है। किसी बीमारी के कारण यदि आप को अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है और सर्जरी करवानी पड़ती है या कोई थेरेपी करनी पड़ती है तो मुख्यमंत्री अमृतम योजना के तहत नेटवर्क अस्पतालों में इलाज की निःशुल्क सुविधा मिल जाती है। ऐसे में अगर आपको गुजरात सरकार की मुख्यमंत्री अमृतम योजना और मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना (MA Yojana and MA Vatsalya Yojana in Gujarat) का लाभ लेना है और मुफ्त में अपना इलाज करवाना है तो जानतें हैं कि कैसे ये संभव हो पायेगा। (Free Medical Services in Gujarat)

क्या है मुख्यमंत्री अमृतम योजना औ मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना (What is Mukhyamantri Amrutam and Mukhyamantri Amrutam Vatsalya Yojana – MA Yojana and MA Vatsalya Yojana in Gujarat)

मुख्यमंत्री योजना एक सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजना है जिसे 4 सितंबर 2012 को गुजरात सरकार ने लांच किया था। शुरुआत में इसे गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन (Below Poverty Line in Gujarat) करने वाले परिवारों के लिए लांच किया गया था। बाद में 15-08-2014 को विभिन्न मध्यमवर्गीय परिवारों को भी इस योजना में शामिल कर लिया गया है। जब तक यह योजना गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के लिए था तब तक इसका नाम मुख्यमंत्री अमृतम योजना था और जब ये योजना विभिन्न मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए बनाया गया तो इसे मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना कहा जाने लगा। यह एक समग्र स्वास्थ्य बीमा योजना है जो डायग्नोस्टिक टेस्ट से लेकर पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन तक स्वास्थ्य से जुड़े समस्त खर्चों को कवर करता है।

मुख्यमंत्री अमृतम योजना की विशेषताएं (Free Treatment in Hospital – Gujarat)

मुख्यमंत्री अमृतम योजना के लाभ के लिए बनाई गई स्वास्थ्य सेवाओं का एक बेहतरीन उदाहरण है। इस योजना की बहुत विशेषताएं हैं। इस योजना के लाभार्थी को रजिस्ट्रेशन के लिए या बीमा प्रीमियम के रूप में कोई भी राशि नहीं चुकानी पड़ती है। लाभार्थियों के लिए यह योजना बिल्कुल मुफ्त और पूरी तरह से राज्य सरकार द्वारा वित्त पोषित है। मुख्यमंत्री अमृतम योजना के तहत बीपीएल परिवारों को रजिस्ट्रेशन में मदद करने वाली आशा कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि के रूप में ₹100 दिए जाते हैं। सूचीबद्ध प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों की मदद से हर महीने जिला स्तर पर स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए जाते हैं। क्लेम और दूसरी सेवाएं पूरी तरह से पेपरलेस हैं।

मुख्यमंत्री अमृतम योजना के लाभ (What are the benefits of Mukhyamantri Amrutam and Mukhyamantri Amrutam Vatsalya Yojana – MA Yojana and MA Vatsalya Yojana in Gujarat)

गुजरात वासियों के लिए कुल मेडिकल खर्च और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए योजना के तहत प्रत्येक परिवार को 5 लाख रुपये का कवरेज मिलता है। इसके साथ ही अगर आपको अस्पताल जाकर भर्ती होना है तो ₹300 ट्रैवलिंग चार्जेस मिलता है। इन सब के अलावा
डायग्नोस्टिक
अस्पताल में पंजीकरण
एडमिनिस्ट्रेशन चार्ज
एडमिशन
मरीज के लिए भोजन
सर्जरी
सर्जरी के बाद सेवाएं
यात्रा खर्च
ये सब के सब सेवाएं निशुल्क है, जिसका मरीज को एक रुपये भी खर्च नहीं करना पड़ता है।

मुख्यमंत्री अमृतम योजना के अंतर्गत क्या-क्या इलाज होता है

मुख्यमंत्री अमृतम योजना के तहत आने वाली बीमारियों की सूची बहुत लंबी है क्योंकि इस योजना के तहत हर तरह के फ्री उपचार (Free Medical Treatment in Gujarat) किये जाते हैं। यही कारण है कि यह योजना हर किसी के लिए बहुत अच्छी साबित होती है क्योंकि योजना के तहत किसी भी रोगी को लगभग किसी भी बीमारी के इलाज के लिए इंकार नहीं किया जाता। Cardiovascular diseases, Renal diseases, Neurological diseases, Burns, Poly-Trauma, Cancer (Malignancies), Neo-natal (newborn) diseases, Knee & Hip Replacement – Joint Replacement & Kidney, Liver, Kidney + Pancreas Transplant समेत 1763 बीमारियों को इस योजना के तहत कवर किया जाता है। यानी ऐसी कोई बीमारी नहीं है जिसका इलाज मुख्यमंत्री अमृतम योजना के तहत नहीं होता है हालांकि फिर भी माना जाता है कि कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट और सौंदर्य बढ़ाने के लिए प्लास्टिक सर्जरी अमृत योजना के तहत नहीं किया जाता।

क्या है मुख्यमंत्री अमृतम योजना की पात्रता (Eligibility for MA Yojana)

गरीबी रेखा के नीचे आने वाले परिवार मुख्यमंत्री अमृतम योजना के लिए पात्र हैं। राज्य सरकार ने बीपीएल लिस्ट तैयार की है। मुख्यमंत्री अमृतम योजना के तहत नामांकन के लिए परिवार के सभी सदस्यों का मौजूद होना अनिवार्य है। गरीबी रेखा के ऊपर आने वाले परिवार मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना के तहत अपना नामांकन करा सकते हैं। इसके तहत नामांकन के लिए परिवार की अधिकतम सालाना आमदनी ₹4 लाख या फिर से उससे कम होनी चाहिए। मान्यता प्राप्त आशा वर्कर भी इसके तहत नामांकन करवा सकती। मान्यता प्राप्त पत्रकार को भी इस योजना का लाभ मिलता है। वर्ग 3 और 4 के कर्मचारी जिन्हें राज्य सरकार ने एक फिक्स सैलरी पर नियुक्त किया है। यू विन कार्ड धारक भी योग्य है साथ ही उन परिवार से संबंधित वरिष्ठ नागरिक जिनकी आय ₹6 लाख या उससे कम है वो भी इस योजना के लिए पात्र हैं।

मुख्यमंत्री अमृतम योजना में नामांकन कैसे करें (How to register to get Free Treatment in Private Hospital in Gujarat)

इस योजना में मेडिकल बेनिफिट पाने के लिए पात्र व्यक्ति को योजना के तहत नामांकन करने की आवश्यकता होती है। मुख्यमंत्री अमृतम योजना की नामांकन प्रक्रिया बहुत ही आसान है। तालुका और सिविक सेंटर जैसे सरकारी संस्थाओं के पास आपके परिवार की एक सूची होती है। इस सूची में सिर्फ उन्हीं परिवारों का नाम दर्ज होता है जिनकी सालाना पारिवारिक आय ₹4 लाख या उससे कम होती है। परिवारों की यह सूची https://ma.gujarat.gov.in/ वेबसाइट पर ऑनलाइन बीपीएल सर्च पेज के माध्यम से उपलब्ध होती है। नामांकन प्रक्रिया से जुड़ा वेंडर इसी सूची का उपयोग करता है। मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य सूची परिवारों के आय प्रमाण पत्र के आधार पर तैयार होती है। मुख्यमंत्री अमृतम योजना और मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य योजना के तहत नामांकन के लिए लाभार्थी परिवार को अपने क्षेत्र के तालुका या सिविक सेंटर पर जाना होता है। ज्यादा से ज्यादा पात्र परिवारों तक पहुंच बनाने के लिए राज्य सरकार ने स्थानीय स्तर पर मोबाइल कियोस्क भी बनाए हैं। तालुका दफ्तर, सिविक सेंटर और मोबाइल कियोस्क पर नामांकन की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए जरूरी उपकरणों से ये पूरी तरह से लैस होते हैं। इन उपकरणों में बायोमेट्रिक जानकारी होती हैं जहां रजिस्ट्रेशन के दौरान पूरे परिवार की तस्वीर ली जाती है। बायोमेट्रिक लिया जाता है। दस्तावेज सत्यापन के बाद अमृतम कार्ड योजना के बारे में एक पैंप्लेट और पैनल में अस्पतालों की सूची दी जाती है। यह दस्तावेज मिलने के साथ ही परिवार के नामांकन की प्रक्रिया पूरी हो जाती है। सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों की सूची आप यहां भी देख सकते हैं।

क्या है योजना के आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज (Documents for MA Yojana in Gujarat)

MA Yojana के तहत नामांकन के लिए नोडल एजेंसी में जाने से पहले पात्र लाभार्थी परिवार को कई अहम दस्तावेज रखने होंगे।
एड्रेस प्रूफ जैसे राशन कार्ड,
पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पैन कार्ड
गरीबी रेखा के नीचे (बीपीएल का प्रमाण पत्र,
आय प्रमाण पत्र

MA योजना स्मार्ट हेल्थ कार्ड को रिन्यू कैसे करें

इस योजना के लाभार्थियों को MA Card अमृतम कार्ड का लाभ प्राप्त करने के लिए समय-समय पर रिन्यू करना अनिवार्य है। हम आपको बता दें कि मुख्यमंत्री अमृतम कार्ड की वैधता 3 सालों के लिए ही होती है। पहले मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य कार्ड की वैधता 1 साल ही थी हालांकि वर्ष 2015 के बाद इसे 3 साल में बदल दिया गया। MA Health Card को रिन्यू करवाना बेहद आसान है। लाभार्थी कस्टमर केयर नंबर पर कॉल करके या निर्धारित कियोस्क पर जाकर कार्ड को रिन्यू कर सकता है। मुख्यमंत्री अमृतम वात्सल्य कार्ड को भी रिन्यू कराने के लिए आपको आय प्रमाण पत्र, पहले मौजूदा कार्ड जो एक्सपायर हो चुका है और एड्रेस और पहचान दस्तावेजों की आवश्यकता होती है।