Home हिन्दी फ़ोरम हिंडालको के इस प्रोजेक्ट से हो रही है किसानों की उन्नति

हिंडालको के इस प्रोजेक्ट से हो रही है किसानों की उन्नति

922
0
SHARE
हिंडालको इंडस्ट्रीज, रेणुकूट के सीएसआर 'प्रोजेक्ट उन्नति' से हो रही है किसानों की उन्नति
 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की मौजूदगी में देश का सबसे प्रतिष्ठित सीएसआर अवॉर्ड्स दी सीएसआर जर्नल एक्सीलेंस अवॉर्ड्स 2023 (The CSR Journal Excellence Awards 2023) समारोह संपन्न हुआ। दी सीएसआर जर्नल (The CSR Journal) द्वारा आयोजित सीएसआर पुरस्कार समारोह में कुल 6 कैटेगरीज में एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट में हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट (Hindalco Industries Ltd., Renukoot won The CSR Journal Excellence Awards 2023) ने बाजी मारी। तो वहीं United Breweries Limited दूसरे पायदान पर रहा और SBI Foundation तीसरे नंबर पर रहा। Agriculture & Rural Development में दी सीएसआर जर्नल एक्सीलेंस अवार्ड 2023 में हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट (Hindalco Industries Ltd., Renukoot) को भारत में कृषि एवं ग्रामीण विकास में सुधार लाने के उद्देश्य से उनके सीएसआर प्रोजेक्ट उन्नति (Unnati Project of Hindalco Industries Ltd., Renukoot) के लिए प्रदान किया गया है।

क्या है हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट का उन्नति प्रोजेक्ट

अपने सीएसआर – CSR (कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी – CorporateSocialResponsibility) के तहत कृषि एवं ग्रामीण विकास में सुधार लाने के लिए हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट ने 1 अप्रैल 2018 से उन्नति प्रोजेक्ट की शुरुआत की। ग्रामीण समुदाय के सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण के माध्यम से आजीविका के अवसर को बढ़ाने के मकसद से Unnati Project of Hindalco Industries Ltd., Renukoot उन्नति प्रोजेक्ट को लाया गया। ग्रामीण इलाकों में रहने वाले गरीबों को सामाजिक एवं आर्थिक विकास में बढ़ावा देने, ग्रामीणों और किसानों को सक्षम बनाने सहित सामाजिक सुरक्षा तक पहुंच बढ़ाने, कृषि विकास के लिए संसाधनों की उपलब्धता बढ़ाने और बुनियादी ढांचे के विकास में ये प्रोजेक्ट लगातार बहुत मददगार साबित हो रहा है।

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में प्रोजेक्ट उन्नति ला रहा है सकारात्मक बदलाव

हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट अपने उन्नति प्रोजेक्ट की शुरुआत उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के दूधी तहसील में किया। जिसकी वजह से ना सिर्फ इलाके में सकारात्मक बदलाव आया बल्कि स्थानीय किसानों की जिंदगी भी बदल गयी। प्रोजेक्ट उन्नति के तहत हिंडाल्को ने दुधी तहसील के 39 गांवों की आजीविका और ग्रामीण विकास पर केंद्रित किया।Sustainable Livelihoods, Socio-Economic और Infrastructure Development के लिए हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट ने 45 रेन वॉटर हरेस्टिंग संरचना का निर्माण किया। 190 लिफ्ट सिंचाई प्रणाली स्थापित की गई। स्प्रे मशीन, उच्च उपज वाले बीज के साथ 1780 से अधिक किसानों को सहायता प्रदान की गई। 236 एसएचजी का गठन किया गया और उन्हें आईजीए कार्यक्रमों से जोड़ा गया। 3000 से अधिक छात्रों को विभिन्न व्यावसायिक कौशल यानी वोकेशनल ट्रेनिंग में प्रशिक्षित किया गया। 780 सदस्यों के साथ 62 किसान क्लब की स्थापना की गयी।

हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट के उन्नति प्रोजेक्ट से हो रहा है ये बदलाव

Sonbhadra District में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए उन्नत कृषि पद्धतियों, युवाओं के कौशल, वाटरशेड मैनेजमेंट और क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के बाद किसानों की औसत आय 35,000 – 40,000 रुपये प्रति एकड़ प्रति वर्ष बढ़ गयी। 1628 से अधिक कुशल युवा अब इनकम जनरेशन में लगे हुए हैं। कृषि गतिविधियों में संलग्न होने के कारण माइग्रेशन में महत्वपूर्ण उलटफेर देखने को मिला। इसके आलावा सब्जियों के उत्पादन में भी 15% की वृद्धि देखने को मिली।

भारत में जल संकट की समस्या गंभीर है, सीएसआर से मिल रही है मदद

भारत में जल संकट की समस्या गंभीर है। हमारे देश में हर साल 1250 MM औसतन बारिश होती है। जिसका वैश्विक तुलना में 7 फीसदी ज्यादा है। लेकिन फिर भी 63 मिलियन लोगों को साफ़ सुथरा पानी नहीं मिलता है। Clean Water का एक्सेस नहीं होने का सबसे मुख्य कारण है कि हम जल संरक्षण की तरफ बिलकुल नहीं ध्यान देते। एक आकड़ों के अनुसार हम पूरे साल के बारिश का महज 8 फीसदी ही पानी को ही संचय करते है। पानी की इस गंभीर समस्या को देखते हुए हमारे किसान और रूरल कम्युनिटी बहुत परेशान रहती है। बहरहाल हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रेणुकूट के प्रोजेक्ट उन्नति की वजह से किसानों और ग्रामीणों की जिंदगी खुशहाल हो गयी है।