Home हिन्दी फ़ोरम हरियाणा – सीएम का सीएसआर सौगात

हरियाणा – सीएम का सीएसआर सौगात

20
0
SHARE
 

हरियाणा में सीएसआर से बना किसान प्रशिक्षण केंद्र

सीएसआर कामों के तहत हो रहे विकास को अब हर राज्य बड़ी तेजी से आगे लेकर जा रहें हैं। हमेशा विकास के लिए फंड का रोना रोने को मजबूर देश की राज्य सरकारें अब सीएसआर को अपना हथियार बनाकर विकास के कामों को कर रहें है। सीएसआर फंड के तहत जमीनी स्तर पर काम किया जा रहा है। चाहे वो कोई भी क्षेत्र हो। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने के मौके पर हरियाणा वासियों को कई सीएसआर के तहत विकास की सौगात दीं। एक कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये मुख्यमंत्री ने सीएसआर के तहत बने किसान प्रशिक्षण केंद्र और सीएसआर के तहत बने 30 बेड के आधुनिक किसान हॉस्टल का उद्घाटन किया। इन विकास परियोजनाओं के अलावा मुख्यमंत्री गुरुग्राम में चार राजकीय विद्यालयों को अपग्रेड भी किया।

जी एंटरटेनमेंट ने दिए सीएसआर के तहत 20 अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस  एंबुलेंस

इस कोरोना काल में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के लिए सीएसआर सबसे अग्रसर रहा है। इसी के साथ साथ हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से गुरुग्राम जिले की स्वास्थ्य सेवाओं को और दुरुस्त करने के लिए 20 नई एंबुलेंस को झंडी दिखा रवाना किया। यह एंबुलेंस सीएसआर पहल के तहत जी एंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज द्वारा उपलब्ध कराई गईं हैं। इन एंबुलेंस के मिलने से जिले में सरकारी स्वास्थ्य सुविधाएं और बेहतर होंगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कॉर्पोरेट क्षेत्र द्वारा दिया गया सहयोग सराहनीय है। जब भी प्रदेश में कोई आपदा आई है उसमें इस क्षेत्र का हमेशा बढ़ चढ़कर योगदान रहा है।

हरियाणा सरकार को कोरोना काल में सीएसआर से मिले फंड

मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना काल की इस संकट की घड़ी में गुरुग्राम की 46 बड़ी कंपनियों ने 30 करोड़ रुपये से अधिक लागत की सामग्री उपलब्ध करवाई है, जिससे लोगों को बड़ी राहत मिली है। सीएम कोरोना रिलीफ फंड में भी कॉर्पोरेट्स ने बढ़ चढ़कर दान दिया। सीएम ने बताया कि 17 कंपनियों ने 10.31 करोड़ रुपये की राशि इसमें दी है। इन 20 नई एंबुलेंस के मिलने से विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्र व दूर दराज के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों तक स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जा सकेंगी। साथ ही किसान प्रशिक्षण केंद्र से किसानों को बहुत फायदा होगा। इससे किसान भाई ना सिर्फ अत्याधुनिक खेती के गुर सीखेंगे बल्कि किसानों की आय में भी वृद्धि होगी।

सिंगरौली में सीएसआर के कामों की समीक्षा

मध्य प्रदेश के सिंगरौली में भी बड़े पैमाने पर सीएसआर के काम हो रहें है। जिला कलेक्टर राजीव रंजन मीणा की अध्यक्षता में सीएसआर को लेकर एक समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में सीएसआर के कामों को लेकर मंथन किया गया। कलेक्टर राजीव रंजन मीणा ने सीएसआर के पूरे और अधूरे कामों को जाना और जो काम हो चुके है उनको लेकर निर्देश भी दिए कि जल्द ही संबंधित विभाग कामों का प्रमाण पत्र दिया जाए। हम आपको बता दें कि अभी भी कुछ स्थानों पर आंगनवाड़ी की ईमारत पूरी तरह से नहीं बना है। इसे भी जल्द खत्म करने के निर्देश दिए।