Home हिन्दी फ़ोरम पर्यावरण के लिए कोका कोला ने जीता अवॉर्ड, CSR से बदल दी...

पर्यावरण के लिए कोका कोला ने जीता अवॉर्ड, CSR से बदल दी गावों की तस्वीर

583
0
SHARE
पर्यावरण संरक्षण के लिए कोका कोला ने जीता अवॉर्ड, प्रोजेक्ट Clean Destination ने ऐसे बदल दी पन्ना के गावों की तस्वीर
 
कोका कोला इंडिया फाउंडेशन ने देश का सबसे प्रतिष्ठित सीएसआर अवॉर्ड्स दी सीएसआर जर्नल एक्सीलेंस अवॉर्ड्स 2023 (The CSR Journal Excellence Awards 2023) जीता है। 9 दिसंबर को सम्पन्न हुए दी सीएसआर जर्नल एक्सीलेंस अवॉर्ड्स 2023 में देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे मौजूद रहे। दी सीएसआर जर्नल (The CSR Journal) द्वारा आयोजित सीएसआर पुरस्कार समारोह में कुल 6 कैटेगरीज में एनवायरमेंट में कोका कोला इंडिया फाउंडेशन ने (Coca Cola India Foundation won The CSR Journal Excellence Awards 2023) ने बाजी मारी। तो वहीं डाबर इंडिया (Dabur India Limited) दूसरे पायदान पर रहा और डीसीबी बैंक (DCB Bank) तीसरे नंबर पर रहा। Environment Category में दी सीएसआर जर्नल एक्सीलेंस अवार्ड 2023 में Coca Cola India Foundation को भारत में पर्यावरण संरक्षण में सुधार लाने के उद्देश्य से उनके सीएसआर प्रोजेक्ट Clean Destination के लिए प्रदान किया गया है।

क्या है कोका कोला इंडिया फाउंडेशन का प्रोजेक्ट Clean Destination

प्रोजेक्ट क्लीन डेस्टिनेशन एक सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट कार्यक्रम है जिसे साहस द्वारा मध्य प्रदेश पर्यटन बोर्ड और कोका-कोला के आनंदना फाउंडेशन के सहयोग से कार्यान्वित किया जा रहा है। यह परियोजना फरवरी 2022 से फरवरी 2024 की अवधि के लिए पन्ना राष्ट्रीय उद्यान (Panna National Park) के गेट्स और पन्ना राष्ट्रीय उद्यान के बफर जोन में 30 गांवों (13 ग्राम पंचायत) पर लागू की जा रही है। पन्ना राष्ट्रीय उद्यान और पार्क के दरवाजों के आसपास के गांवों में पर्यावरण की दृष्टि से Solid Waste Management (SWM) प्रणाली स्थापित करना, देश भर के राष्ट्रीय उद्यानों के लिए सस्टेनेबल वेस्ट मैनेजमेंट के लिए एक मॉडल समाधान बनाने के लिए एक पायलट के रूप में कार्यान्वित करना और SWM नियम 2016 के अनुसार Decentralized Waste Management and Resource Recovery को प्राथमिकता देने के मूल सिद्धांतों को प्रेरित करना इस प्रोजेक्ट का मकसद है। वर्ल्ड विदाउट बेस्ट के तहत कोका-कोला कंपनी ने अपना यह सीएसआर एक्टिविटी शुरू किया है। पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए और पर्यावरण को होते नुकसान को देखते हुए कोको कोला इंडिया फाउंडेशन पोस्ट कंज्यूमर पैकेजिंग को कलेक्ट करने का काम प्रोजेक्ट क्लीन डेस्टिनेशन के तहत कर रही है।

Coca Cola India Foundation के प्रोजेक्ट Clean Destination ने ऐसे बदल दी पन्ना के गावों की तस्वीर

प्रोजेक्ट क्लीन डेस्टिनेशन के तहत 15000 लोगों को इसका सीधा फायदा हुआ है जिसमें कोका कोला इंडिया ने 5000 से ज्यादा घरों को कवर किया है। अकेले पन्ना नेशनल पार्क के गेटों और आसपास के 30 गावों से कोका कोला इंडिया ने 9 टन वेस्ट को डायवर्ट किया है यानी वेस्ट को पार्क जोन से निकाला गया है। कोको कोला इंडिया फाउंडेशन ने सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट को ध्यान में रखते हुए बड़े पैमाने पर इलाके में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट भी किया है। गाड़ियों, tricycle से घर-घर जाकर कचरा इकट्ठा करना, लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूकता करना कोका कोला इंडिया इन प्रोजेक्ट के तहत कर रही है। प्रोजेक्ट क्लीन डेस्टिनेशन का ही नतीजा है कि मंडला ग्राम पंचायत को भारत सरकार के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण में मंडला गांव को चुना गया। Ecotourism को भी बढ़ावा देने के लिए कोका-कोला कंपनी इन गावों के लोगों को बाकायदा ट्रेनिंग भी दे रही है ताकि विलेज टूरिज़्म के तहत गांव वालों की आय में बढ़ोतरी भी हो सके। कोका-कोला कंपनी इस प्रोजेक्ट को सेल्फ सस्टेन करने के लिए वेस्ट मटेरियल को बेच कर पैसे कमाने की जुगत में है।