Home हिन्दी फ़ोरम कानपुर कमिश्नर का निर्देश, NTPC बिल्हौर में करें CSR

कानपुर कमिश्नर का निर्देश, NTPC बिल्हौर में करें CSR

15
0
SHARE
 

उत्तर भारत की सबसे बड़ी सोलर एनर्जी प्रोजेक्ट है NTPC बिल्हौर

उत्तर भारत की सबसे बड़ी सोलर एनर्जी प्रोजेक्ट NTPC बिल्हौर का कानपुर कमिश्नर राज शेखर ने निरीक्षण किया। इस दौरान कमिश्नर राज शेखर ने परियोजना का जायजा लेते एनटीपीसी और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की। जिसमें प्रोजेक्ट से जुडी कई मुद्दों पर चर्चा की गयी। कमिश्नर ने प्रोजेक्ट को पूरा करने में आ रही रुकावटों को जल्द सुलझाने का जिला प्रशासन को आदेश भी दिया।
उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर जिले के बिल्हौर में देश की सबसे बड़ी बिजली उत्पादक कंपनी नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी NTPC) बड़े पैमाने पर सौर ऊर्जा से बिजली उत्पादन के क्षेत्र में काम कर रही है। यह सोलर प्लांट उत्तर भारत में सबसे बड़ा है। परियोजना की लागत लगभग ₹ 1100 करोड़ (लगभग 5 करोड़ प्रति मेगावाट) है। यह बिल्हौर तहसील के 4 गांवों में 1125 एकड़ भूमि में फैला हुआ है।
एनटीपीसी सीएसआर के तहत बिल्हौर के ग्रामीणों को कंबल वितरित करते कानपुर कमिश्नर राज शेखर

कानपुर कमिश्नर का निर्देश, NTPC बिल्हौर में करें CSR

कानपुर कमिश्नर राज शेखर ने एनटीपीसी अधिकारियों और एसडीएम बिल्हौर को इन 4 गांवों में सार्वजनिक महत्व के कामों की पहचान करने और फिर इसे अगले 6 महीनों की अवधि में एनटीपीसी द्वारा कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (CSR) के तहत महत्त्वपूर्ण कार्यों को कराने का निर्देश दिया। कमिश्नर ने गांवों में सामुदायिक शौचालय, सोलर स्ट्रीट लाइट, स्कूलों में स्वच्छ पेयजल आपूर्ति, कायाकल्प परियोजना के तहत स्कूलों के नवीनीकरण, सार्वजनिक स्थानों पर हैंड पंप, स्मार्ट क्लास जैसे सार्वजनिक कार्यों को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया। कमिशनर ने एनटीपीसी की सीएसआर गतिविधियों के तहत इलाके के 50 जरूरतमंद लोगों को कंबल भी वितरित किए।

225 मेगावाट, ₹ 1100 करोड़, 1125 एकड़ में फैला हुआ Bilhaur Solar Energy Project

उत्तर प्रदेश, “क्लीन & ग्रीन एनर्जी” (Clean and Green) के क्षेत्र का नेतृत्व कर रहा है और ऊर्जा क्षेत्र में निर्भरता की ओर कदम बढ़ा रहा है। 225 मेगावाट, ₹ 1100 करोड़, 1125 एकड़ में फैला हुआ Bilhaur Solar Energy Project ऐसी मेगा परियोजना का एक उदाहरण है। ये परियोजना यूपीनेडा द्वारा अमल में लाया  जा रहा है। ग्लोबल बिडिंग द्वारा एनटीपीसी को अवार्ड की गई। परियोजना को दो अलग इकाइयों के रूप में कार्यान्वित किया जा रहा है। पहला 140 MW का प्लांट है जो इस महीने के अंत तक पूरा हो जाएगा। दूसरा मार्च 2021 तक पूरा हो जाएगा।

कानपुर – NTPC CSR से लाभांवित होते स्थानीय

The CSR Journal से ख़ास बातचीत करते हुए कानपुर कमिश्नर ने कहा कि “यह स्वच्छ और हरित ऊर्जा क्षेत्र में बिजली आपूर्ति की स्थिति को बेहतर बनाएगा”।कमिश्नर ने एनटीपीसी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि वे सर्विस प्रोवाइडर के माध्यम से लेने वाले Unskilled और Semi-skilled प्रकृति के कार्यों के आबंटन में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता दें ताकि परियोजना से स्थानीय लोग लाभान्वित हों और उन्हें रोज़गार का अवसर भी प्रदान हो।