Home हिन्दी फ़ोरम योगी सरकार ने गांव-गांव में उतारी ऑरेंज फोर्स, घर-घर जलापूर्ति करेंगे सुनिश्चित

योगी सरकार ने गांव-गांव में उतारी ऑरेंज फोर्स, घर-घर जलापूर्ति करेंगे सुनिश्चित

504
0
SHARE
योगी सरकार ने गांव-गांव में उतारी ऑरेंज फोर्स, घर-घर जलापूर्ति करेंगे सुनिश्चित
 
उत्तर प्रदेश में पानी की सप्लाई बाधित होने पर गांव वालों को अब इंतजार नहीं करना पड़ेगा और ना ही प्लंबर को बाहर से बुलाना पड़ेगा। अब उनके ही गांव में प्लंबर तुरंत मिल जाया करेंगे। योगी सरकार ने गांव-गांव में आरेंज वर्दी वाले प्लंबरों की फोर्स उतार दी है। प्लंबरों की यह सेना आपके गांव की खराब जलापूर्ति (Water Supply in Uttar Pradesh) को तुरंत बहाल करेगी। ऑरेंज वर्दी पहने प्लंबर समस्या को झटपट दूर कर पानी सप्लाई को चालू कराएगा। Uttar Pradesh Yogi Government के निर्देश पर नमामि गंगे (Namami Gange) एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग ने ग्रामीण परिवारों तक स्वच्छ पेयजल पहुंचाने के साथ-साथ पाइप लाइनों की मरम्मत और रखरखाव के लिए गांव-गांव में ऑरेंज फोर्स की तैनाती की है।

गांव के युवाओं को ही किया जा रहा प्रशिक्षित, बढ़ रहा है रोजगार का अवसर

वर्दी और साजो सामान के साथ तैयार इस ऑरेंज फोर्स में गांव के युवाओं को प्लंबर के काम का प्रशिक्षण दिया गया है। जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) की हर घर जल योजना के तहत राज्य में कुल 1.16 लाख से अधिक युवा प्लंबर कार्य के लिए प्रशिक्षित किये गये हैं। इनकी तैनाती इनके अपने ही गांव में की गई है। इन प्लंबरों का काम गांव में पीने के पानी व्यवस्था को सुचारू बनाए रखना और गांव में पानी सप्लाई में किसी भी प्रकार का अवरोध आने पर उसे तत्काल ठीक करना भी है। घर-घर तक स्वच्छ पानी पहुंचाने में मददगार बनने वाले प्रशिक्षित प्लंबरों को अपने गांव में ही काम करके रोजगार के साथ निश्चित कमाई भी हो सकेगी।

पानी की आपूर्ति बाधित होने पर तुरंत होगी कार्रवाई, योगी सरकार की पहल

नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव ने जल जीवन मिशन में काम कर रही कंपनियों को गांव-गांव में प्रशिक्षित प्लंबरों को अपने साथ जोड़कर उनको रोजगार सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। बता दें कि राज्य के प्रत्येक ग्राम पंचायत से 2 युवाओं को प्लंबर कार्य का प्रशिक्षण दिया गया है। जल जीवन मिशन को सफल बनाने के लिए प्रत्येक घर तक पाइप लाइन जानी है, टोंटी लगनी है। सप्लाई में कोई परेशानी आने पर प्लंबर उसे दुरुस्त करने का काम करेंगे। इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित किया जा चुका है। ऐसे में अब पानी की सप्लाई बाधित होने पर अब इंतजार नहीं करना होगा। अपने ही गांव में ही प्लंबर मौजूद होंगे और झटपट पानी की सप्लाई भी की जा सकेगी।