Home हिन्दी फ़ोरम राष्ट्रीय शिक्षा दिवस – कैसे पाएं स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस – कैसे पाएं स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन

158
0
SHARE
राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर जानें उच्च शिक्षा के लिए कैसे पाएं स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन
 

उच्च शिक्षा के लिए स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन पाने का सबसे आसान तरीका

शिक्षा देश के सामाजिक-आर्थिक ताने-बाने में संतुलन के लिए उल्लेखनीय भूमिका निभाती है। जीवन की बेहतर गुणवत्ता हासिल करने के लिए शिक्षा बहुत जरुरी है। शिक्षा से हमारे देश के नागरिकों का समग्र विकास होता है। शिक्षा एक ऐसा टूट है जो चीजों को देखने या देखने के तरीके को बदलने में मदद कर सकती है। शिक्षा ना सिर्फ हमारी जिंदगी बदल देती है बल्कि शिक्षा (Education in India) जिंदगी जीने का फ़लसफ़ा भी सिखाती है। एजुकेशन ना सिर्फ व्यक्तिगतजिंदगी में खुशियां लाती है बल्कि पूरे परिवार में खुशियां भर देती है। शिक्षा आपको आपके अधिकारों और देश और समाज के प्रति कर्तव्यों से भी अवगत कराती। हालांकि, समय के साथ, उच्च शिक्षा महंगी भी हो गई है। महंगाई की वजह से कई मामलों में हम उच्च शिक्षा यानी हायर एजुकेशन नहीं हासिल कर सकते हैं। फीस (Fees for Education in India) का खर्च वहन कर पाना बहुत मुश्किल होता है। ऐसे में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस (National Education Day) के ख़ास अवसर पर हम आपको बताते है कि अगर आपको देश-विदेश में उच्च शिक्षा (Higher Education in India) पाना हो तो स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन पाकर इसे कैसे आसान बनाया जा सकता है।

उच्च शिक्षा के लिए ऐसे पाएं स्कॉलरशिप और एजुकेशन लोन

स्कूली शिक्षा तो भारत में लगभग फ्री और सभी लोगों के लिए एक्सेस है लेकिन उच्च शिक्षा बहुत महंगा और हर किसी के पहुंच से बाहर है। अगर आपको देश विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करना है और अगर आपके पास पर्याप्त पैसे नहीं है तो ये लेख आपकी बहुत मददगार साबित होगी। भारत में स्कॉलरशिप (Scholarships for Higher Education in India) और लोन (Loan for Higher Education in India) की बहुत अच्छी व्यवस्था है। स्कॉलरशिप और लोन (Scholarships and Loan for Higher Education in India) समाज के कमजोर वर्गों से संबंधित उन छात्रों के लिए सौगात है जो अपने आर्थिक परिस्थितियों के कारण से अपनी शिक्षा पूरी करने में असमर्थ रहते हैं। छात्रवृत्ति एवं ऋण ऐसे छात्र जो प्रतिभाशाली हैं लेकिन उनके पास आगे पढ़ने के साधन नहीं होते बढ़ावा एवं प्रोत्साहन है। स्कॉलरशिप और लोन कैसे मिल सकता है ये हम आपको बताते है, सबसे पहले बात करते हैं स्कॉलरशिप की तो इस समय कई प्रकार की स्कॉलरशिप यानी छात्रवृत्तियां हैं – प्रतिभा आधारित, जरूरत आधारित, छात्र-विशिष्ट और कॉलेज-विशिष्‍ट। भारत सरकार का शिक्षा मंत्रालय जरूरतमंद छात्रों को राष्‍ट्रीय एवं बाह्य छात्रवृत्तियां प्रदान करता है।

कॉलेज और विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए स्कॉलरशिप योजना

यह योजना 2008 से चालू है। (Scheme of Scholarship for College and University Students) इस योजना का उद्देश्य उन मेधावी छात्रों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है, जिनकी पारिवारिक आय 4.5 लाख रुपये प्रति वर्ष से कम है, ताकि वे अपने खर्चों के एक हिस्से को पूरा करने के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकें। भारत सरकार हर साल 82000 स्कॉलरशिप देती है जिसमे लड़कों के लिए 41000 और लड़कियों के लिए 41000 है जिसे 18-25 वर्ष के आयु वर्ग में राज्य की जनसंख्या के आधार पर राज्य शिक्षा बोर्डों में विभाजित किया गया है। छात्रवृत्ति की दर रु. 12,000/- प्रति वर्ष पहले तीन वर्षों के लिए और रु. 20,000/- प्रति वर्ष चौथे और पांचवें वर्ष के लिए। कॉलेज और विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति योजना दिनांक 1.8.2015 से राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल http://www.scholarships.gov.in पर शामिल हो गई है। छात्र योजना के दिशा-निर्देशों को देख सकते हैं और साथ ही इस पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

विदेश में पढ़ाई करने के लिए Foreign Scholarships

शिक्षा मंत्रालय, उच्च शिक्षा विभाग सांस्कृतिक/शैक्षिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों के तहत विदेशों द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति/अध्येतावृत्ति की प्रक्रिया को सुगम बनाता है। (Government Scholarships Details In Hindi) अधिकांश Foreign Scholarships अनुसंधान, मास्टर्स और डॉक्टरेट के लिए दिया जाता हैं। छात्रों को ऑनलाइन https://proposal.sakshat.ac.in/scholarship आवेदन करना होता है। विदेशी सरकार द्वारा छात्रवृत्ति की पेशकश प्राप्त होने पर, इसे उपरोक्त पोर्टल पर प्रसारित किया जाता है जिसमें पात्रता मानदंड, छात्रवृत्ति का मूल्य, आयु सीमा, आवश्यक योग्यता, अनुभव आदि के बारे में सभी विवरण दिए जाते हैं। अंतिम चयन उस देश द्वारा किया जाता है जो छात्रवृत्ति प्रदान कर रहा है। साथ ही हम ये भी बता दें कि विदेश में रहने वाले उम्मीदवारों के आवेदनों पर विचार नहीं किया जाता है।

देश विदेश में पढ़ाई करने के लिए ऐसे पाएं एजुकेशन लोन (Education Loan in India)

बात एजुकेशन लोन की करें तो क्योंकि भारत सरकार और कई ऐसे बैंक हैं, जो विद्यार्थियों के सपने को पूरा करने के लिए Education Loan उपलब्ध कराते हैं। कोई भी विद्यार्थी Education Loan प्राप्त करके अपनी शिक्षा को हासिल कर सकता है। और अपने सपने को पूरा करता है। आज हम यहां पर आपको Education Loan कैसे प्राप्त कर सकते हैं? भारत में लगभग सभी बैंकों और प्राइवेट संस्थानों द्वारा एजुकेशन लोन प्रदान किया जाता है। लोन विद्यार्थियों को उनकी पढ़ाई में होने वाले खर्चे की पूर्ति के लिए उपलब्ध कराया जाता है। लोन के अंतर्गत देश – विदेश में पढ़ाए जाने वाले लगभग सभी कोर्स शामिल हैं। आप कक्षा 12 की स्कूली शिक्षा से लेकर ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, पीएचडी, इंजीनियरिंग, मेडिकल, एग्रीकल्चर मैनेजमेंट,कंप्यूटर कोर्स, CA जैसी उच्च शिक्षा के लिए भी लोन प्राप्त कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं। तो आप इसके लिए भी प्राइवेट संस्थान और बैंक से एजुकेशन लोन प्राप्त कर सकते हैं।

इस सरकारी पोर्टल पर करें Education Loan अप्लाई

सबसे पहले आपको बैंक या संस्था का चयन करना होगा। (Education Loan Details In Hindi) जहां से आप एजुकेशन प्राप्त करना चाहते हैं। उसके पश्चात आपको उसे बैंक में जाकर Education Loan के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना होगा। और फिर बैंक द्वारा बताए गए सभी चरणों का पालन करके आप। लोन प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही विद्या लक्ष्मी पोर्टल एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, मुंबई द्वारा प्रबंधित एक शिक्षा ऋण पोर्टल है। इसके तहत कोई भी छात्र शिक्षा ऋण प्राप्त कर सकता है। पोर्टल अनुसूचित बैंकों से जुड़ा हुआ है। पोर्टल बैंकों के लिए एक प्रवेश द्वार है जिसके माध्यम से छात्र आगे बढ़ सकता है। पोर्टल में ऋण आवेदन की शुरुआत से लेकर ऋण की मंजूरी या अन्यथा तक शिक्षा ऋण को ट्रैक करने की सुविधा है।