Home हिन्दी फ़ोरम Mukesh Ambani Birthday – मुकेश अंबानी के कामयाबी की कहानी

Mukesh Ambani Birthday – मुकेश अंबानी के कामयाबी की कहानी

1103
0
SHARE
 
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मालिक मुकेश अंबानी का आज जन्मदिन (Mukesh Ambani Birthday) है। 19 अप्रैल 1955 को जन्मे मुकेश अंबानी आज 66 साल के हो गए। देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) सबसे ज्यादा सीएसआर एक्टिविटीज (CSR Activities of Reliance Industries Limited) करती है। Ministry of Corporate Affairs के आकड़ों की मानें तो साल 2020-2021 में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 922 करोड़ रुपये Corporate Social Responsibility में खर्च किया है। एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के शीर्ष अरबपतियों की लिस्ट में 13वें पायदान पर काबिज मुकेश अंबानी के नेतृत्व में कंपनी नए नए आयाम छू रहा है। धीरूभाई अंबानी के निधन के बाद मुकेश अंबानी ने रिलायंस की कमान अपने हाथ में ली और इसे बुलंदियों पर पहुंचा दिया। आइए उनके कारोबारी सफर पर एक नजर डालते हैं।

एशिया के सबसे अमीर कारोबारी है रिलायंस के मालिक मुकेश अंबानी

हाल ही में फोर्ब्स ने 2023 की बिलेनियर लिस्ट जारी की थी इसमें एशिया के सबसे अमीर इंसान का ताज मुकेश अंबानी (Asia Richest Mukesh Ambani) के सिर सजा था। मुकेश अंबानी के इस मुकाम तक पहुंचने का सफर बेहद दिलचस्प रहा है। उनके दिवंगत पिता धीरूभाई अंबानी जहां रिलायंस इंडस्ट्रीज को छोड़ कर गए थे वहां से मुकेश अंबानी ऐसे मुकाम पर ले आए जहां देश दुनिया की बड़ी बड़ी कंपनियां उससे काफी पीछे रह गई है।

बिजनेस में पिता का साथ देने के लिए मुकेश अंबानी ने बीच में छोड़ दी पढ़ाई

पिता धीरूभाई अंबानी का बिजनेस में साथ देने के लिए बेटे मुकेश ने पढ़ाई बीच में छोड़ दिया। मुकेश अंबानी ने मुंबई यूनिवर्सिटी में केमिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। इसके बाद उन्होंने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में भी एडमिशन लिया था। लेकिन यहां अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ कर उन्होंने पिता के साथ कारोबार में हाथ बटाना शुरू कर दिया। मुकेश अंबानी ने अपने पिता धीरूभाई अंबानी के साथ रिलायंस ग्रुप में एंट्री ले ली थी। इसके बाद 1985 में रिलायंस टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज लिमिटेड से नाम बदलकर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड कर दिया। पिता के साथ कंधे से कंधा मिलाते हुए मुकेश अंबानी ने पेट्रोलियम के अलावा टेलीकॉम क्षेत्र में भी अपना कदम आगे बढ़ाएं और रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड की स्थापना की।

पिता के निधन के बाद संभाली कमान, खड़ा किया साम्राज्य

6 जुलाई 2002 को धीरूभाई अंबानी के निधन के बाद मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज (Mukesh Ambani Reliance) की कमान अपने हाथ में लिया। हालांकि पिता के निधन होते ही उनके छोटे भाई अनिल अंबानी के बीच संपत्ति विवाद भी शुरू हो गया था और यह विवाद बंटवारे तक पहुंच गया था। अंबानी परिवार में बंटवारे के तहत रिलायंस इन्फोकॉम छोटे भाई अनिल अंबानी के पास पहुंच गई जबकि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड मुकेश अंबानी के पास आ गई। मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की बागडोर जब अपने हाथ में ली थी तब साल 2002 में इसका मार्केट केपीटलाइजेशन 75000 करोड़ था, इसके बाद मुकेश अंबानी ने अपनी मेहनत और लगन से रिलायंस इंडस्ट्रीज को देश की सबसे बड़ी कंपनी बना दिया। बीते साल 2022 में 19 लाख करोड़ वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज देश की पहली कंपनी बनी। जहां मुकेश अंबानी दे अपनी काबिलियत के दम पर रिलायंस को बुलंदियों पर पहुंचाया तो वहीं के छोटे भाई अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कैपिटल अब बिकने की कगार पर है।

हर सेक्टर में है मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस

मुकेश अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमान हाथ में लेने के बाद न केवल पेट्रोलियम बल्कि रिटेल, लाइफ़साइंसेज, लॉजिस्टिक, टेलीकॉम और शिक्षा के क्षेत्र में अपनी दमदार दस्तक दी है। उसकी रिलायंस रिटेल भारत की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी है और लगातार अपने पोर्टफोलियो का विस्तार करती जा रही है। इसके अलावा रिलायंस ने 2016 में जिओ लांच किया जो कि इस क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी बन कर उभरी है। रिलायंस ग्रुप तेजी से विस्तार कर रहा है और अब मुकेश अंबानी ने अपने तीनों बच्चों को बड़ी जिम्मेदारियां सौंपी है। मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी रिलायंस जिओ की कमान संभाल रहे जबकि बेटी ईशा अंबानी रिलायंस रिटेल को ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए एक के बाद एक लगातार डील करते नजर आ रही है। Ambani Family के छोटे छोटे बेटे अनंत अंबानी ग्रुप के न्यू एनर्जी की कमान अपने हाथों में लिए हुए हैं।