Home Header News सीएम देवेंद्र फडणवीस का बंगला डिफॉल्टर घोषित

सीएम देवेंद्र फडणवीस का बंगला डिफॉल्टर घोषित

836
0
SHARE
CM Devendra Fadnavis Water Bill Defaulter
 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बंगले को बीएमसी ने डिफॉल्टर घोषित किया है, सीएम के आधिकारिक निवास वर्षा बंगले को बीएमसी पानी सप्लाई कराती है, लेकिन महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अरसे से पानी का बिल नही चुकाया है और यही कारण है कि बीएमसी ने सीएम के निवास को डिफॉल्टर घोषित कर दिया है, सिर्फ सीएम ही नही बल्कि उनके मंत्रिमंडल के कई मंत्री बीएमसी का मुफ्त पानी पीते है। ऐसे में सवाल उठता है कि जहां महाराष्ट्र भयंकर सूखे की चपेट में है, जनता पानी के एक एक बूंद के लिए तरसती है वही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अथाह पानी का इस्तेमाल कर रहे है, महाराष्ट्र मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जहां रहते है, जहां से पूरे राज्य के जनता की पानी और उनके प्यास का फैसला होता है, वो आधिकारिक सीएम निवास वर्षा बंगले पर 6 नलों के पानी कनेक्शन है, भले ही महाराष्ट्र में सूखा हो, जनता पानी के लिए तरसे वही वर्षा निवास के नलों से खूब पानी बहता है और बड़ी बात ये भी है कि सीएम निवास के अधिकारी पानी के बिल का भुगतान तक नही करते। अबतक सीएम पर पानी को लेकर लगभग 7 लाख 44 हजार 981 रुपये का बकाया है और बीएमसी ने ये 7 लाख 44 हजार 981 रुपये वसूलने के लिए वर्षा को डिफॉल्टर भी घोषित किया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री फडणवीस ही नही बल्कि इस फेहरिस्त में सीएम को मिलाकर 18 ऐसे मंत्री और शिवसेना बीजेपी के वीवीआईपी है जिनका कुल बकाया 8 करोड़ रुपये तक पहुंच रहा है। जिनके उपर महाराष्ट्र की जनता का टैक्स के रूप में कमाई आती है अब वही डिफॉल्टर हो रहे है, इस लंबे लिस्ट में ना सिर्फ बीजेपी के मंत्री है बल्कि शिवसेना कोटे से मंत्री भी शामिल है।

आंकड़ों पर नज़र डालें तो आईये देखते है कि किस मंत्री के आवास पर कितना बकाया हैं।

  • देवेंद्र फडणवीस, मुख्यमंत्री वर्षा निवास, कुल 6 नल कनेक्शन का बकाया रु. 744981
  • सुधीर मुनगंटीवार, वित्तमंत्री, देवगिरी निवास, कुल 3 कनेक्शन का बकाया 145055
  • विनोद तावडे, कैबिनेट मंत्री, सेवासदन निवास, कुल बाकी रु. 155273
  • प्रकाश मेहता, तत्कालीन गृहनिर्माण मंत्री, पर्णकुटी निवास, कुल बाकी रु. 161719
  • पंकजा मुंडे, ग्रामविकास, महिला व बालविकास मंत्री, रॉयलस्टोन निवास, 3 कनेक्शन का कुल बकाया 35033
  • विष्णू सावरा, तत्कालीन आदिवासी मंत्री, सागर निवास, कुल बकाया 182141
  • शिवसेना के कोटे से मंत्री भी इस डिफॉल्टर में शामिल है, परिवहन मंत्री दिवाकर रावते का निवास मेघदूत पर रु. 105484 बाकी
  • सुभाष देसाई, उद्योगमंत्री, पुरातन निवास पर कुल बकाया 249243
  • रामदास कदम, पर्यावरण मंत्री, शिवगिरी निवास रु. 8988 बकाया

इसी तरह लिस्ट लंबी है। सामान्य मुंबईकर अगर दो-तीन महीने से ज्यादा पानी के बिल का बकाया रखता है तो बीएमसी पानी की सप्लाई खंडित कर देती है, लेकिन बीएमसी मुख्यमंत्री व अन्य मंत्रियों के सरकारी आवास पर मेहरबान क्यो है ये सवाल अब खड़े हो रहे है। साथ ही ये भी सवाल कि क्या मुख्यमंत्री पानी के बिल का भुकतान करेंगे अगर जल्द नही करते है तो आम जनता अपने मुख्यमंत्री पर विश्वास कैसे करे साथ ही अगर सरकारी विभाग समय पर पानी का बिल नहीं भरता है, तो फिर सामान्य जनता बकाये पानी का बिल कैसे भरेगी? और क्या बीएमसी कमिश्नर प्रवीण परदेशी बकायेदार मंत्रियों के आवासों का पानी खंडित करने की हिम्मत करेगें। ये जानकारी आरटीआई एक्टिविस्ट शकील अहमद ने उजागर की है और शकील अहमद की माने तो मुख्यमंत्री के आवास पर हर महीने औसतन 1600 यूनिट पानी का इस्तेमाल किया जा रहा है। गौरतलब है कि एक यूनिट एक हजार लीटर का होता है। जहाँ एक तरफ मुंबई बीएमसी मुंबईकरों को औसत प्रतिदिन 135 लीटर देती है। वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री के आवास को प्रतिदिन पच्चास हजार लीटर पानी मुंबई महानगर पालिका दे रही है। ऐसे में क्यों न कहा जाय कि बीएमसी सीएम देवेंद्र फडणवीस पर महेरबान है और आम मुंबईकरों के साथ नाइंसाफी कर रही है।