Home हिन्दी फ़ोरम सीएसआर से बदलता समाज, हो रहें हैं कई विकास के काम

सीएसआर से बदलता समाज, हो रहें हैं कई विकास के काम

30
0
SHARE
 

सीएसआर पहल से कानपुर स्मार्ट सिटी में हो रहा है विकास का काम

कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (Corporate Social Responsibility) यानि सीएसआर से समाज में सकारात्मक बदलाव देखने को मिल रहा है। सीएसआर ना सिर्फ ज़रूरतमंद की जिंदगियों को बदल रहा है बल्कि समाज में विकास के नए नए आयाम भी देखने को मिल रहा है। उत्तर प्रदेश की मैनचेस्टर कही जाने वाली स्मार्ट सिटी कानपुर कहने के लिए तो उत्तर प्रदेश की आर्थिक राजधानी है। लेकिन सीएसआर में फिसड्डी साबित रही है। अब सीएसआर की ताकत को समझते हुए कानपुर कमिश्नर राज शेखर और कानपुर नगर निगम आयुक्त अक्षय त्रिपाठी सीएसआर फंड का इस्तेमाल विकास के कामों में लगा रहें हैं।
नगर निगम कानपुर, अशोक मसाले ग्रुप और एमएचपीएल ने संयुक्त रूप से गंगा बैराज पर सेल्फी पॉइंट कानपुर की जनता को समर्पित किया। गंगा बैराज एंट्री पॉइंट के 100 मीटर के इस सुंदरीकरण का काम सीएसआर के तहत नगर निगम कानपुर और कानपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा किया गया है। इसी तरह कानपुर में भी आने वाले महीनों में इसी तरह के 4 और एंट्री पॉइंट CSR के तहत विकसित किए जाएंगे। मसाला कंपनी अशोक मसाले के साथ अगले 5 वर्षों के लिए इसका रखरखाव भी किया जायेगा।

सीएसआर पहल से डाबर ने 15 स्कूलों को कोविड सुरक्षित बनाने में की मदद

डाबर इंडिया लिमिटेड ने उत्तराखंड के उधम सिंह नगर में सरकारी स्कूलों को कोविड से सुरक्षित बनाने के लिए उत्तराखंड सरकार के साथ हाथ मिलाया है। 15 स्कूलों में पोर्टेबल बैटरी चालित सैनिटाइजिग मशीन, सोडियम हाइपोक्लोराइट डिसइंफ्क्टेंट समाधान के साथ फेस मास्क वितरित कर रहा है। जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने स्कूलों को ये विशेष स्वच्छता किट वितरित कीं। डाबर इंडिया लिमिटेड के सीएसआर के इस काम के लिए गदरपुर और रुद्रपुर के दो ब्लॉकों में 15 स्कूल चयनित हैं। डाबर इंडिया लिमिटेड सीएसआर प्रमुख ए सुधाकर ने कहा कि डाबर हमेशा छात्रों को उनकी शैक्षिक गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए सुरक्षित वातावरण प्रदान करने में विश्वास किया है। इसी कड़ी में डाबर ने ये सीएसआर पहल की है। हम आपको बता दें कि डाबर ने जिले के 40 स्कूलों को गोद भी लिया है।

सीएसआर फंड से यूपी के बस्ती जिले के स्कूल होंगें स्मार्ट

वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जिले से सटे बस्ती जिले के कुल 28 सरकारी स्कूलों को सीएसआर फंड से डिजिटल सुविधाओं से लैस करने का निर्णय लिया गया है। सीडीओ की अगुवाई में हुई बैठक के दौरान सभी ब्लॉकों से दो-दो स्कूलों का नाम प्रस्तावित कर सूची तैयार कर ली गई है। इन स्कूलों में कम्प्यूटर प्रोजेक्टर, स्मार्ट टीवी, ईन्वटर, बैट्री समेत तमात उपकरण लगाए जायेंगे। कोविड-19 महामारी के दौरान डिजिटल पढ़ाई की तरफ छात्रों का रूझान बढ़ा है। ऐसे में विद्यालयों के कायाकल्प के साथ-साथ स्मार्ट स्कूल में परिवर्तित करने की दिशा में आगे बढ़ने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय किया गया है। सरकारी परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को भी समान रूप से तकनीकी ज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ाने की तैयारी है।