Home Uncategorized सिटीजन सोशल रिस्पांसिबिलिटी की मिसाल, एसएसपी संगरूर “पढ़ता पंजाब” के लिए दान...

सिटीजन सोशल रिस्पांसिबिलिटी की मिसाल, एसएसपी संगरूर “पढ़ता पंजाब” के लिए दान देंगे अपनी सैलरी

43
0
SHARE
 

ख़ुदकुशी कर चुके किसानों की बेटियों की पढ़ाई के लिए दान करेंगे सैलरी

कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के साथ साथ अगर हर नागरिकों में सिटीजन सोशल रिस्पांसिबिलिटी की भावना जाग जाए तो हमारे समाज में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत ही ना हो। कॉरपोरेट तो सीएसआर के जरिये समाज में सकारात्मक बदलाव तो ला ही रहे हैं लेकिन देश के कई ऐसे नागरिक भी है जो समाज में सकारात्मक बदलाव के लिए ऐसे ऐसे काम करते है जो देश में किसी मिसाल से काम नहीं होता। ऐसे ही एक पुलिस अधिकारी है पंजाब के। सिटीजन सोशल रिस्पांसिबिलिटी की मिसाल पेश करते हुए पंजाब के संगरूर के एसएसपी ने एक ऐसी पहल की है जिसके बाद ख़ुदकुशी कर चुके किसानों की बेटियों की पढ़ाई में कोई अड़चन नहीं आएगी।
एसएसपी मनदीप एस सिद्धू

सिटीजन सोशल रिस्पांसिबिलिटी की मिसाल पेश करते पंजाब के संगरूर के एसएसपी

दरअसल पंजाब में संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने आर्थिक तंगी की वजह से जान गंवाने वाले किसानों की बेटियों की पढ़ाई के लिए अपने वेतन का एक बड़ा हिस्सा दान कर मानवता की मिसाल कायम की है। उनकी ओर से उठाए गए कदम के बाद पंजाब राज्य के दो कॉरपोरेट हाउसेस ने  भी किसानों की बेटियों की पढ़ाई में मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है।

किसानों की बेटियों की शिक्षा के लिए हर महीने देंगे अपने वेतन का हिस्सा

समाज में गरीबी और अनहोनी की चपेट में आए लोगों को मदद कर मिसाल कायम करने वालों की कमी नहीं है। ऐसे ही है संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू। एसएसपी मनदीप एस सिद्धू पंजाब में आर्थिक तंगी की वजह से आत्महत्या करने वाले किसानों की बेटियों की अच्छी पढ़ाई के लिए अपने वेतन का एक बड़ा हिस्सा दान करने का फैसला किया है। रिपोर्ट के अनुसार, एसएसपी मनदीप सिंह ने किसानों की बेटियों की शिक्षा के लिए सबसे पहले अपने वेतन से 51 हज़ार रुपये दान किए हैं। इसके बाद एसएसपी सिद्धू इसके नेक काम के लिए अपने वेतन से हर महीने करीब 21 हज़ार रुपये दान करने का फैसला किया है।

मैं पंजाब को पढ़ता पंजाब देखना चाहता हूं – एसएसपी मनदीप एस सिद्धू

The CSR Journal से बात करते हुए पंजाब के संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने कहा कि “आर्थिक तंगी की वजह से आत्महत्या करने वाले किसानों की बेटियों की मदद करने के लिए यह एक छोटा सा प्रयास है, मैं पंजाब को ‘पढ़ता पंजाब’ देखना चाहता हूं। उन्होंने यह भी कहा कि जब तक मैं यहां पदस्थापित रहूंगा, हर महीने 21,000 रुपये देता रहूंगा। संगरूर की सेवा करने का मुझे ये तीसरी बार मौक़ा मिला और मैं किसान का बेटा हूं, किसानों का दर्द मैं अच्छी तरह समझता हूं”।

‘पढ़ता पंजाब’ में अपना योगदान देने के लिए सएसपी मनदीप एस सिद्धू के साथ आये दो कॉरपोरेट, बढ़ाया मदद का हाथ

इसके साथ ही, संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने यह भी बताया कि मेरी पहल पर दो कॉरपोरेट हाउसेस भी प्रेरित होकर आगे आये हुए हैं। इनमें से एक ने 21 लाख रुपये देने का फैसला किया है। वहीं, दूसरे उद्योगपति ने धुरी के 13 सरकारी स्कूलों को 9 से 12वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाली छात्रों के लिए 26 लाख रुपये का चेक दिया है। उन्होंने कहा कि इन सभी विद्यार्थियों को इस साल किसी प्रकार की फीस का भुगतान नहीं करना पड़ेगा। संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू का शिक्षा के प्रति ये योगदान बहुत ही सराहनीय है और सिटीजन सोशल रिस्पांसिबिलिटी की मिसाल है। इससे और भी ब्यूरोक्रेट को प्रेरणा लेनी चाहिए।