Home हिन्दी फ़ोरम देश के स्टार्टअप इकोसिस्टम में महाराष्ट्र अव्वल

देश के स्टार्टअप इकोसिस्टम में महाराष्ट्र अव्वल

134
0
SHARE
 
महाराष्ट्र सिर्फ सीएसआर (CSR in Maharashtra) में ही अव्वल नहीं है बल्कि स्टार्टअप इकोसिस्टम में भी अव्वल है। केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में प्रकाशित आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट 2021-22 के अनुसार 11 हजार 308 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप के साथ Maharashtra Startup Ecosystem में देश में पहले स्थान पर आया है। इसके अलावा फाइनेंसियल ईयर 2021-22 में शुरू हुए 44 स्टार्टअप यूनिकॉर्न में से 11 यूनिकॉर्न महाराष्ट्र के हैं।

स्टार्टअप में अव्वल होकर युवाओं ने महाराष्ट्र को गौरवान्वित किया – नवाब मलिक

कौशल विकास, रोजगार और उद्यमिता मंत्री नवाब मलिक ने The CSR Journal से ख़ास बातचीत करते हुए कहा कि “इन उपलब्धियों के माध्यम से, स्टार्टअप के मामले में महाराष्ट्र देश में शीर्ष राज्य बन गया है। यूनिकॉर्न वो कंपनियां है जिनका मूल्यांकन 7,500 करोड़ रुपये से 75,000 करोड़ रुपये के बीच की है। देश की 44 इकाइयों में से 11 या 25% यूनिकॉर्न Maharashtra से हैं। यह राज्य के लिए गर्व की बात है। राज्य के रचनात्मक युवाओं ने इस क्षेत्र में गौरवान्वित किया है”।

महाराष्ट्र में 32,662 रजिस्टर्ड स्टार्टअप हैं

हम आपको बता दें कि Maharashtra में 32,662 रजिस्टर्ड Startup हैं। इनमें से 11,705 स्टार्टअप मान्यता प्राप्त हैं। देश में करीब 62,000 मान्यता प्राप्त Startup हैं। राज्य के प्रत्येक जिले में कम से कम 5 से 7 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं। बात करें पिछड़े जिले गढ़चिरौली की तो यहां 30 पंजीकृत और 9 मान्यता प्राप्त Startup हैं, जबकि नंदुरबार जिले में 32 पंजीकृत और 11 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं। गढ़चिरौली और नंदुरबार ये दोनों जिले एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट (Aspirational District Programme) है जिन्हें नीति आयोग (Niti Aayog) ने पिछड़ा जिला घोषित किया है।
मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन में 14 हजार 710 पंजीकृत और 5 हजार 938 मान्यता प्राप्त Startup हैं। इसके अलावा, पुणे में 8,603 पंजीकृत और 3,375 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप, औरंगाबाद में 774 पंजीकृत और 220 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप, सिंधुदुर्ग में 36 पंजीकृत और 14 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं। प्रदेश के हर जिले से युवा नए नए इनोवेशंस को सामने लाने में अपना योगदान दे रहे हैं। गौरतलब है कि रजिस्ट्रेशन कोई भी स्टार्टअप कर सकता है, लेकिन Startup को मान्यता Department for Promotion of Industry and Internal Trade देती है। मान्यता मिलने के बाद ये Startup रजिस्टर्ड कहलाते है। महाराष्ट्र सरकार इन युवाओं को भरपूर प्रोत्साहन भी दे रही है।
महाराष्ट्र सरकार ने महाराष्ट्र राज्य इनोवेटिव स्टार्टअप (Innovative Startup) नीति की घोषणा की है। महाराष्ट्र स्टेट इनोवेशन सोसाइटी नीति के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए काम कर रही है। इस नीति के तहत स्टार्टअप वीक, इनक्यूबेटरों की स्थापना, स्टार्टअप और नवाचार यात्रा, ग्रैंड चैलेंज, हैकाथॉन, गुणवत्ता परीक्षण और सर्टिफिकेशन सब्सिडी योजना, पेटेंट सब्सिडी योजना, महाराष्ट्र वर्चुअल इनक्यूबेशन सेंटर के लिए सहायता और मार्गदर्शन प्रदान कर रही हैं।

नीति आयोग द्वारा जारी इनोवेशन इंडेक्स 2020 में महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर

नीति आयोग द्वारा जारी इनोवेशन इंडेक्स 2020 में महाराष्ट्र दूसरे स्थान पर था वही कौशल विकास विभाग और महाराष्ट्र स्टेट इनोवेशन सोसाइटी विभिन्न पहलों और योजनाओं के माध्यम से महाराष्ट्र को स्टार्टअप हब बनाने के लिए भी काम कर रहा है। आर्थिक सर्वे 2021-22 के मुताबिक, हाल के वर्षों में दिल्ली ने स्टार्टअप कैपिटल के मामले में बेंगलुरु को पीछे छोड़ दिया है। अप्रैल 2019 से दिसंबर 2021 के बीच, दिल्ली में जहां 5,000 से अधिक Startup रजिस्टर हुए, वहीं बेंगलुरु में 4,514 नए स्टार्टअप रजिस्ट हुए। राज्यों की बात करें, तो कुल 11,308 स्टार्टअप के साथ, Maharashtra इस मामले में नंबर 1 है।