Home हिन्दी फ़ोरम गुजरात – इंडियन ऑयल के सीएसआर से सरकारी स्कूलों में रेन वॉटर...

गुजरात – इंडियन ऑयल के सीएसआर से सरकारी स्कूलों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग, होगा जल संरक्षण

386
0
SHARE
Water Harvesting
 
गुजरात के वड़ोदरा जिले में बड़े पैमाने पर जल संरक्षण होने जा रहा है। इंडियन ऑयल गुजरात के वड़ोदरा जिले के लगभग 1000 सरकारी स्कूलों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगा रही है। Rain Water Harvesting का ये काम इंडियन ऑयल की मदद से और जल जीवन मिशन के अंतर्गत किया जा रहा है। रेन वॉटर हार्वेस्टिंग का ये काम Indian Oil के सीएसआर पहल से हो रहा है। गुजरात के वड़ोदरा जिले के लगभग 567 गांवों के एक हज़ार सरकारी स्कूलों में ये प्रोजेक्ट लगाया जा रहा है।

इंडियन ऑयल के सीएसआर पहल से होगा जल संरक्षण

Indian Oil के इस Corporate Social Responsibility प्रोजेक्ट से हर एक स्कूल में लगभग 1 लाख लीटर का जल संरक्षण किया जा सकेगा। वही एक साल में 1000 से 1200 लाख लीटर पानी की बचत होगी। इंडियन ऑयल का ये CSR प्रोजेक्ट वड़ोदरा जिला प्रशासन की देखरेख में हो रहा है। The CSR Journal से ख़ास बातचीत करते हुए ASOJ प्राइमरी स्कूल की हेड टीचर डॉ कीर्ति पंड्या ने बताया कि रेन वॉटर हार्वेस्टिंग से ना सिर्फ Water Conservation हो रहा है बल्कि स्कूली बच्चों को हम पानी के बचत की सीख भी दे रहें हैं।

Water Conservation के लिए होगा 4.38 करोड़ का CSR खर्च

वड़ोदरा के 732 स्कूलों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को बनाने में इंडियन ऑयल ने 4.38 करोड़ का सीएसआर खर्च कर रही है। इस स्कूल के Rain Water Harvesting प्रोजेक्ट की खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपके मन की बात कार्यक्रम में सराहना कर चुके हैं। गौतलब है कि अगर जल है तो हमारा कल भी रहेगा। अगर हम आज पानी की बचत करेंगे, पानी का संरक्षण करेंगे तो भविष्य में हमें पानी की कमी नहीं होगी। भले ही धरती 70 फीसदी पानी से घिरी है लेकिन पीने के पानी की किल्लत आज भी हम झेलते हैं। यही कारण है कि हमारी पानी बचत करना प्राथमिक जिम्मेदारी है और इसमें सीएसआर की भी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है।