Home हिन्दी फ़ोरम महाराष्ट्र – सरकारी अस्पतालों में होगा मुफ्त इलाज, जरूरतमंद मरीजों को मिलेगा...

महाराष्ट्र – सरकारी अस्पतालों में होगा मुफ्त इलाज, जरूरतमंद मरीजों को मिलेगा व्हाट्सएप से मदद

354
0
SHARE
महाराष्ट्र - सरकारी अस्पतालों में होगा मुफ्त इलाज, जरूरतमंद मरीजों को मिलेगा व्हाट्सएप से मदद
 
महाराष्ट्र सरकार के अधीन आने वाले सभी सरकारी अस्पतालों में अब मुफ्त इलाज किया जायेगा। महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Maharashtra CM Eknath Shinde) ने इसकी घोषणा करते हुए बताया कि स्वास्थ्य विभाग के सभी सरकारी अस्पतालों में अब मरीजों के इलाज के लिए एक भी रुपया नहीं लिया जायेगा यानी अब सरकारी अस्पतालों में मरीजों का निशुल्क इलाज किया जायेगा। ये सेवा 15 अगस्त के बाद सभी सरकारी अस्पतालों में लागू किया जा चुका है। प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजों को दी जाने वाली Medical Treatment और जांच के लिए एक निर्धारित पैसे लिए जाते थे। लेकिन अब से सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजों को चिकित्सा सेवाओं, जांच के लिए शुल्क नहीं देना होगा। मरीजों को दी जाने वाली सभी प्रकार की चिकित्सा सेवाएं निशुल्क प्रदान की जाएंगी। यह फैसला 15 अगस्त से लागू किया गया है।

अब सरकारी अस्पतालों में कैश काउंटर हमेशा के लिए बंद, होगा मुफ्त इलाज

महाराष्ट्र सरकार के इस Free Treatment Scheme के ऐलान के बाद राज्य के गरीब, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को मुफ्त इलाज मिलेगा। भारत के संविधान का अनुच्छेद 21 प्रत्येक नागरिक के मौलिक अधिकार के रूप में जीवन के अधिकार को सुनिश्चित करता है। प्रत्येक नागरिक को अच्छे स्वास्थ्य के लिए इलाज तक पहुंच मिलनी चाहिए। इसलिए राज्य सरकार ने प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को निःशुल्क, गुणवत्तापूर्ण, आसान और जल्द मेडिकल सर्विसेस उपलब्ध कराने के लिए लगातार काम कर रही है। इसी के तहत सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज (Free Medical Treatment in Maharashtra) का लाभ देने का निर्णय लिया गया है। इस फैसले के पहले अस्पताल में रजिस्ट्रेशन के लिए फीस देना पड़ता था। अगर डॉक्टर ने कोई जांच लिखा हो तो उसका अलग से पैसा देना पड़ता था। उदहारण के तौर पर एक्स रे, ईसीजी, खून के जांच के लिए भी सरकारी अस्पतालों में पैसे भरने पड़ते थे, हालांकि ये महज चंद रुपये ही हुआ करते थे। लेकिन अब पूरी तरह से सरकारी अस्पतालों में इलाज मुफ्त होगा।

मुफ्त इलाज और सहायता पाने के लिए व्हाट्सएप हेल्पलाइन जारी

इसके साथ ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री मेडिकल सहायता निधी के लाभार्थी मरीजों के लिए मोबाइल ऐप तथा व्हाट्सएप हेल्पलाइन (WhatsApp Helpline for Free Medical Treatment) का शुभारंभ किया। Chief Minister Medical Relief Fund पाने के लिए मरीजों और उनके रिश्तेदारों के लिए संपर्क स्थापित करने के लिए 8650567567 यह हेल्पलाइन नंबर शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री सहायता निधी कक्ष के माध्यम से एक साल में 12 हजार 500 मरीजों को लाभ दिया गया है। इसके लिए 100 करोड़ रुपये से ज्यादा आर्थिक सहायता वितरित किया गया है। The CSR Journal से खास बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि सरकार ने राज्य के प्रत्येक नागरिक को सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ्त जांच और इलाज उपलब्ध कराने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। यह योजना आज से लागू हो रही है।

मरीजों की मदद के लिए एक साल में 100 करोड़ का आंकड़ा पार

आगे सीएम ने कहा कि मुख्यमंत्री सहायता कोष से मरीजों की मदद करते-करते एक साल में 100 करोड़ का आंकड़ा कब पहुंच गया, यह भी समझ में नहीं आया। जब मैं मदद के लिए हाथ बढ़ाता हूं तो उसका लेखा- जोखा नहीं करता हूं। मुख्यमंत्री सहायता कोष मेरे लिए प्रिय विषय है और कुछ चीजें इस मापदंड में फिट नहीं बैठतीं, लेकिन यह चिकित्सा सहायता का मामला है, इसलिए इसमें रास्ता निकाला जाता है। हमारी सरकार आने के बाद से कैबिनेट की पहली बैठक से ही इस सरकार ने किसानों, मजदूरों, कामगारों, महिलाओं, विद्यार्थियों का ख्याल रखा है, इनमें से कोई भी वर्ग लाभ और योजनाओं से वंचित नहीं रहने पाएगा। महात्मा फुले जीवनदायी आरोग्य योजना में बीमा कवरेज 1.5 लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया गया है।