Home हिन्दी फ़ोरम सीएसआर – यूपी में निवेश के लिए सीएम योगी मुंबई में

सीएसआर – यूपी में निवेश के लिए सीएम योगी मुंबई में

64
0
SHARE
 
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में है। उत्तर प्रदेश के विकास का रास्ता योगी मुंबई में तलाशने के लिए आये थे। यहां मुंबई में योगी आदित्यनाथ ना सिर्फ फ़िल्मी सितारों से मिले बल्कि देश के तमाम कॉर्पोरेट्स के दिग्गजों से मिले। मुंबई यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उद्योगपतियों से मुलाकात कर सुरक्षा का भरोसा दिलाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश असीमित संभावनाओं वाला प्रदेश है।

यूपी में निवेश करने पर मिलेगा सुरक्षा और सम्मान – सीएम योगी

योगी ने सभी इंडस्ट्रियलिस्ट को भरोसे में लेते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार हर एक निवेशक को सुरक्षा, सम्मान और माहौल देगी। आने वाले कुछ ही वर्षों में उत्तर प्रदेश बुनियादी सुविधाओं के लिहाज से वैश्विक स्तर पर टक्कर लेगा। योगी ने आगे कहा कि हमारी आबादी हमारा संसाधन है और आपके लिए बाजार भी। टूरिज्म, चिकित्सा, ‘एक जिला, एक उत्पाद’ और एमएसई सेक्टर में बहुत संभावनाएं हैं।

सीएम योगी की हुई इन उद्योगपतियों से मुलाकात, निवेश को लेकर हुई चर्चा

योगी आदित्यनाथ ने टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन, हीरानंदानी ग्रुप के सीएमडी निरंजन हीरानंदानी, KKR India के संजय नायर, सीमेंस के एमडी सुप्रकाश चौधरी, एल एंड टी के सीईओ और एमडी बाबा कल्याणी से मिले और उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए बातचीत की और उन्हें यूपी में निवेश के लिए निमंत्रण दिया। मीडिया से बातचीत करते हुए योगी ने बताया कि पिछले 3 सालों में उत्तर प्रदेश में 3 लाख करोड़ का इन्वेस्टमेंट हुआ है।

यूपी में निवेश के लिए ये है सीएम योगी का रोड मैप

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुंबई के ट्राइडेंट होटल में देश के नामी उद्योगपतियों से बातचीत के दौरान उन्हें यूपी के विकास का रोड मैप भी बताया साथ ही ये भी बताया कि उत्तर प्रदेश में निवेश क्यों किया जाना चाहिए। प्रदेश में बड़े पैमाने पर किए गए इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के बारे बताते हुए योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार जेवर (नोएडा) में एशिया का सबसे बड़ी ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट बना रही है। पूर्वांचल, पूर्वांचल लिंक, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निर्माण जारी है। करीब 600 किमी लंबा मेरठ से प्रयागराज को जोड़ने वाला गंगा एक्सप्रेस वे जून 2021 से बनना शुरू हो जाएगा। इनके किनारों पर औद्योगिक गलियारे बनाए जाएंगे। हर जिले के एक जिला, एक उत्पाद के लिए क्लस्टर भी बनाएंगे।

डिफेंस कॉरिडोर पर भी सीएम योगी का फोकस

सीएम के मुंबई दौरे में डिफेंस सेक्टर में निवेश को भी प्राथमिकता दी गई है। योगी रक्षा उत्‍पाद से जुड़ी कंपनियों और उनके मैनेजमेंट के साथ खासतौर पर बैठक किया। बैठक में सीएम उन्हें न सिर्फ डिफेंस कॉरिडोर में निवेश का न्‍योता दिया बल्कि यूपी में बदले माहौल और सरकार द्वारा निवेशकों को दी जा रही सुविधाओं और अनुदानों की भी जानकारी दिया।

फ़िल्मी हस्तियों से भी किया मुलाकात

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लखनऊ नगर निगम के बांड लॉन्च किया। इसके बाद योगी कई बॉलीवुड हस्तियों से मुलाकात की, मंगलवार को योगी ने अक्षय कुमार से भी मुलाकात की थी। इन फ़िल्मी हस्तियों से मुलाकात कर योगी चाहते है कि बॉलीवुड यूपी की भी तरफ रुख करे। जिसको लेकर यूपी में फिल्म सिटी का निर्माण भी किया जा रहा है।

योगी के मुंबई दौरे पर जमकर हुई राजनीति

योगी के इस दौरे को लेकर विवाद भी शुरू हो गया है। यूपी में फिल्म सिटी बनाने के मुद्दे पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा- कॉम्पटीशन अच्छी बात है, लेकिन किसी की धमकी नहीं चलेगी। योगी ने इसके जवाब में कहा, ‘हम कुछ नहीं ले जा रहे, मुंबई फिल्म सिटी यहीं रहेगी, यूपी में वहां के माहौल और जरूरतों के हिसाब से नई फिल्म सिटी बनाई जा रही है। महाराष्ट्र से उद्योग यूपी जाने के विवाद पर महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि ‘महाराष्ट्र मैग्नेटिक राज्य है। उद्योगपतियों में आज भी महाराष्ट्र का आकर्षण कायम है। राज्य का कोई भी उद्योग बाहर नहीं जाएगा। इसके उलट, दूसरे राज्यों के उद्योगपति भी महाराष्ट्र आएंगे।

यूपी में इंडस्ट्रियल इन्वेस्टमेंट से सीएसआर (CSR) में होगी बढ़ोतरी

The CSR Journal से ख़ास बातचीत करते हुए एडिशनल चीफ सेक्रेटरी डॉ नवनीत सहगल ने बताया कि सीएसआर (कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी) के तहत उत्तर प्रदेश में बड़े स्तर पर लोगों और जरूरतमंद की जिंदगियों में बदलाव आ रहें है। अकेले कोरोना काल में यूपी में सीएसआर फंड के तहत मेडिकल और इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम किया गया। उत्तर प्रदेश सरकार के साथ मिलकर कॉर्पोरेट्स सीएसआर में निवेश कर रही है। और जितना समृद्ध उत्तर प्रदेश होगा उतने ही बड़े पैमाने पर सीएसआर के पहल होंगे। अगर यूपी में कॉर्पोरेट्स इन्वेस्टमेंट करती है तो वही लोग सीएसआर भी करेंगे।