Home Authors Posts by Anju Singh

Anju Singh

6 POSTS 0 COMMENTS
Disrespect of Indian Flag Post Independence

क्या हमें पता है आजादी के मायने?

१५ अगस्त की सुबह रोहन स्कूल जाने के लिए बहुत उत्साहित था। सवेरे तैयार होकर स्कूल पंहुचा। प्रिंसीपल सर ने बड़ी शान से तिरंगा फहराया, सबने मिलकर राष्ट्रगीत गाया। आजादी के मतवाले शहीदों को श्रध्दांजली अर्पित की गई और नन्हा रोहन हाथ में तिरंगा लेकर घर लौटा। स्कूल में छुट्टी थी, पापा का दप्तर...
Independence Day 15-8-218

क्या सचमुच आजाद हुए है हम?

आज १५ अगस्त है। हमारे देश को आजाद हुए पुरे ७१ वर्ष हो गए। पुरा हिंदुस्तान आजादी का जश्न मना रहा है। जगह-जगह तिरंगा फहराया जाएगा। देशभक्ति के गीत गाए जाएंगे। चारो और हरा और केसरिया रंग फैला नजर आएगा। दफ्तरों, स्कूलो में छुट्टी और टेलिविजन पर देशभक्ति से ओत-पोत कार्यक्रमो और फिल्मों की भरमार होगी।...
Shri Karunaniddhi and Major Kaustubh Rane Funeral

जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी…

बीते ७ अगस्त का दिन हमारे देश के लिए बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण रहा। दो वजहों से यह दिन इतिहास में हमेशा यादगार रहेगा। पहला, इस दिन हमारे देश के एक महान नेता और डी.एम. के पार्टी प्रमुख श्री. करुणानिधि का गंभीर बीमारी के चलते ९४ वर्ष की आयु में दुखद निधन हो गया। उनकी मौत ने सारे देश...
Deoria (UP) Shelter Home Shocker

शेल्टर होम या हेल होम…… हम फिर भी खामोश रहेंगे!

अभी बिहार शेल्टर होम में मासूम अनाथ बच्चियों के साथ अमानवीय तरीके से बलात्कार का मामला सामने आया ही था कि उत्तर प्रदेश ने भी उस रेस में शामील होने का फैसला कर लिया। जी हाँ, उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में स्थित एक शेल्टर होम में भी अनाथ लड़कियों से वेश्यावृत्ति कराए जाने की रिपोर्ट सामने आई है।...

CSR: बलात्कारी नही, नरभक्षी… कब तक यूँ ही खामोश रहेँगे हम ??

इस तस्वीर में ऐसी क्या खास बात है? शायद आप सभी इस चेहरे से नावाकिफ होंगे। ये बिहार के एक बाहुबली ब्रिजेश सिंह है जो कई मासूम और नाबालिक अनाथ बच्चियों के साथ बलात्कार के मामले में गिरफ्तार हुए हैं। अब एक बार फिर इस तस्वीर को देखिए। क्या इसके चेहरे की हँसी किसी शैतान...

बलात्कार नारी का या इंसानियत का?

एक बार फिर से सारा देश उबल रहा है, कैंडल मार्च, सोशल मीडिया पर अत्याचार के खिलाफ खड़े होने की अपील, लोगों के ट्वीट्स और राजनीतिक पार्टियों के आरोप प्रत्यारोप, फिर वही सब, फिर फिर...लेकिन क्यों?, अब तक तो हमारे समाज को इन बातों का आदी हो जाना चाहिए था। क्या निर्भया कांड के...
ADVERTISEMENT

हिंदी मंच

EDITOR'S PICK

News Wire
prev next